10 घंटे आउटर पर खड़ी रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन, भूख-प्यास से बेहाल होते रहे मजदुर

May 23 2020 02:47 PM
10 घंटे आउटर पर खड़ी रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन, भूख-प्यास से बेहाल होते रहे मजदुर

पटना: देश में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण के बीच पूरे देश में जारी लॉकडाउन के कारण बिहार के लाखों मजदूर विभिन्न राज्यों में फंसे हुए हैं। ऐसे में केंद्र की मोदी सरकार श्रमिक स्पेशल ट्रेन के जरिए इन मजदूरों को उनके गृहराज्य पहुंचाने का दावा कर रही है। इसी बीच खबर है कि यात्रा के दौरान एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन को लगभग 10 घंटे तक आउटर पर खड़ा रखा गया, जिसके बाद आक्रोशित होकर मजदूरों ने रेलवे ट्रैक पर ही बिहार के सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम से श्रमिक ट्रेनों में बैठकर आए श्रमिकों का गुस्सा उस वक़्त फूट पड़ा जब उनकी ट्रेन को दीन दयाल उपाध्याय स्टेशन के आउटर सिंग्नल पर 10 घंटे तक खड़ा रखा गया। ट्रेन में यात्रा कर रहे एक यात्री ने बताया कि दीन दयाल उपाध्याय स्टेशन के आउटर सिंग्नल पर शुक्रवार रात में ये ट्रेन रात में 11 बजे पहुँच गई थी। तब से लेकर इसे 10 घंटे तक इसे आगे नहीं बढ़ाया गया है। उन्होंने बताया कि इस ट्रेन में यात्रा करने के लिए उनसे 1500 रुपये भी वसूले गए हैं।

इसी तरह एक और श्रमिक स्पेशल ट्रेन जो कि महाराष्ट्र के पनवेल से यूपी के जौनपुर आ रही थी, उस ट्रेन को वाराणसी में लगभग 10 घंटे तक रोके रखा गया। इससे आक्रोशित मजदूरों ने रेलवे ट्रैक पर बैठकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। हालांकि बाद में रेलवे पुलिस ने इन लोगों के खाने का बंदोबस्त किया, तब जाकर ट्रेन को आगे बढ़ाया गया।

इस राज्य में ब्रांड बन चुका है कोरोना

इस स्थान पर ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए बनाए गए खास क्वारंटाइन सेंटर

यहां पर 15 जून से खुलने वाले है स्कूल, सरकार ने लिया बड़ा फैसला