चित्रकूट में दो बच्चों की हत्या में बड़ा खुलासा, बजरंग दल से जुड़े तार

इंदौर: मध्य प्रदेश के चित्रकूट से दो बच्चों के अपहरण और हत्या के मामले में एमपी पुलिस ने 24 फरवरी को छह लोगों को गिरफ्तार किया था। बच्चों की हत्या के विरोध के बीच ये गिरफ्तारी हुई। एमपी के चित्रकूट में 12 फरवरी को जिले की एक स्कूल बस से अगवा किए गए दो बच्चों को रविवार सुबह 24 फरवरी को उत्तर प्रदेश के बांदा में एक नदी में मृत पाया गया था।

यहां मिलेगी हर माह 55 हजार रु सैलरी, National Institute of Technology Trichy में करें अप्लाई

रीवा आईजी चंचल शेखर ने एएनआई से कहा कि अपराध के पीछे का मास्टरमाइंड बजरंग दल का स्थानीय क्षेत्र संयोजक विष्णुकांत शुक्ला था। आईजी ने कहा कि जब शुक्ला मास्टरमाइंड थे, तब उन्होंने सीधे अपराध में भाग नहीं लिया था। पुलिस ने बताया कि प्राथमिक आरोपी विष्णुकांत शुक्ला का बड़ा भाई पदम शुक्ला था। पुलिस ने एएनआई को दिए अपने बयान में कहा कि अपराध में बाइक और कार का इस्तेमाल किया गया था। रीवा आईजी ने कहा कि बाइक की नंबर प्लेट पर 'राम राज्य' लिखा हुआ था और अपराध में इस्तेमाल की गई कार में भाजपा का झंडा लगा था।

सैलरी 44 हजार रु, Bhubaneswar में निकली नौकरियां

कमलनाथ, सीएम, मध्य प्रदेश ने कहा है कि "मैंने पीड़ितों के पिता से बात की। इस घटना के पीछे की राजनीति को भी उजागर किया जाएगा। जिस वाहन पर वे यात्रा कर रहे थे, उसका झंडा किसका था? पुलिस वह सब उजागर कर रही है। विपक्ष डर गया है।" उनके लोग शामिल हैं। "हिंदुस्तान टाइम्स ने बताया कि चित्रकूट के नयागांव के पास श्रेयांश और प्रियांश रावत को उनके स्कूल बस से बंदूक की नोक पर अपहरण कर लिया गया था।रिपोर्ट में कहा गया है कि लड़कों के परिवार ने पहले ही अपहरणकर्ताओं को फिरौती में 20 लाख रुपये का भुगतान कर दिया था, लेकिन अपहरणकर्ताओं ने 1 करोड़ रुपये की मांग की थी। कथित तौर पर लड़कों को 21 फरवरी को मार दिया गया था।

खबरें और भी:-

कश्मीरी छात्रों पर हो रहे हमले को लेकर नेशनल कांफ्रेंस का विरोध प्रदर्शन, केंद्र पर लगाए आरोप

खाद्य तेलों में गिरावट के साथ गुड़ और गेहूं के दाम भी घटे

समाप्त सप्ताह में विदेशी पूंजी भंडार 1.50 अरब डॉलर बढ़कर 398.27 अरब डॉलर हुआ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -