16 साल की उम्र में एक्ट्रेस बनी ये लड़की तो हर कोई रह गया दंग, टीवी से साउथ तक में मचा चुकी धमाल

मनोरंजन जगत की मशहूर एक्ट्रेस हंसिका मोटवानी घर घर पहचानी जाने लगी थीं। हंसिका ने 2001 में एकता कपूर के सीरियल 'देस में निकला होगा चांद' से बतौर बाल कलाकार डेब्यू किया था। तत्पश्चात, उन्होंने फिल्मों की तरफ रुख किया। 9 अगस्त 1991 को मुंबई में हंसिका का जन्म हुआ था। तो चलिए उनके जन्मदिन के अवसर पर जानते हैं उनसे जुड़ी कुछ विशेष बातें।

हंसिका के पिता प्रदीप मोटवानी एक बड़े कारोबारी हैं जबकि मां डर्मेटोलॉजिस्ट हैं। हालांकि उनके माता पिता ने तलाक ले लिया था फिर हंसिका को उनकी मां ने ही पाला। हंसिका ने अपनी पढ़ाई मुंबई के पोदार इंटरनेशनल स्कूल से की। हंसिका ने टेलीविज़न सीरियल 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी', 'सोन परी', 'करिश्मा का करिश्मा' में काम किया। कई टेलीविज़न शो करने के बाद हंसिका ने दक्षिण भारतीय फिल्म जगत में काम किया। 15 वर्ष की आयु में उन्होंने डायरेक्टर पुरी जगन्नाथ की तेलुगू फिल्म 'देसमुदुरु' की। इसके बाद हंसिका की फैन फॉलोइंग बहुत बढ़ गई थी। उन्होंने दक्षिण भारतीय फिल्म जगत में एक के बाद एक कई हिट फिल्में दीं। 

वर्ष 2003 में हंसिका ने ऋतिक रोशन की फिल्म 'कोई मिल गया' में काम किया था। फिल्म में हंसिका बाल कलाकार के रूप में नजर आई। 4 वर्ष पश्चात् 2007 में हंसिका हिमेश रेशमिया की फिल्म 'आपका सुरूर' में नजर आई। इसमें वो मुख्य एक्ट्रेस थीं। उस समय हंसिका की उम्र सिर्फ  16 वर्ष थी। जबकि वो अपनी उम्र से बहुत बड़ी नजर आ रही थीं। उन्हें देखकर हर कोई हैरान रह गया था। बॉलीवुड में हंसिका की दूसरी फिल्म 2008 में रिलीज हुई 'मनी है तो हनी है' थी। तत्पश्चात, हंसिका किसी हिंदी फिल्म में दिखाई नहीं दी। बॉलीवुड में कुछ खास कामयाबी नहीं प्राप्त होने पर उन्होंने दक्षिण की तरफ रुख किया। आज उनकी गिनती दक्षिण भारतीय फिल्म जगत की बड़ी एक्ट्रेसेस में होती है।

बिकिनी पहन शमा सिकंदर ने बढ़ाया इंटरनेट का टेम्प्रेचर, देखकर छूटे फैंस के पसीने

जब सबके सामने रोने लगे थे CID के दया, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

शैलेश लोढ़ा के जाने पर बोले प्रोड्यूसर- 'शो नहीं रुकेगा...'

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -