अरविंद त्रिवेदी को लेकर रामायण की सीता दीपिका चिखलिया ने किया ये बड़ा खुलासा

80 के दशक में दूरदर्शन पर प्रसारित हुए रामानंद सागर के बहुत मशहूर पौराणिक सीरियल 'रामायण' में रावण की भूमिका निभाने वाले मशहूर एक्टर अरविंद त्रिवेदी का मंगलवार की रात 11 बजे देहांत हो गया। वही अभिनेता अरविंद त्रिवेदी के निधन से अभिनेत्री दीपिका चिखलिया शोक में हैं। दीपिका एवं अरविंद त्रिवेदी ने साथ में कई सारे सीन शूट किए थे, जिनमें से 'सीता हरण' वाला सीन बहुत सुर्ख़ियों में रहा था।

वही उनके अंतिम संस्कार में सम्मिलित होने पहुंचीं 'सीता मैया' मतलब दीपिका चिखलिया ने अरविंद त्रिवेदी से जुड़ी यादें साझा कीं। साथ ही उन्होंने सीता हरण सीन का वह किस्सा भी बताया जब शूट के चलते अरविंद त्रिवेदी उनसे बार-बार माफी मांगते रहे। दीपिका चिखलिया ने कहा, 'सीता अपहरण वाले सीन के चलते वह मुझे खींच रहे थे। इस चक्कर में मेरे बाल भी खिंच रहे थे। वह सीन करते समय उन्हें काफी बुरा फील हो रहा था एवं एक अभिनेता होने के नाते वह मामूली बात नहीं थी। वह गुजराती थे तथा मुझसे पूछते रहते थे-आपको लगा तो नहीं? 

आगे उन्होंने कहा, मैं उनसे बोलती थी कि मैं ठीक हूं वह चिंता न करें। मगर सीन की डिमांड के अनुसार, उन्हें मुझे अपनी ओर खींचना था जिससे सीन वास्तविक लगे। तो उस के चलते वह दो दुविधाओं में फंसे थे। एक तो प्रयास किया कि मुझे चोट न पहुंचा दें तथा दूसरा प्रयास था कि वह अपना बेस्ट दें।' दीपिका चिखलिया ने आगे बताया, 'मुझे अभी भी याद है कि सीता अपहरण वाला सीन करने के पश्चात् उन्होंने मीडिया और अन्य व्यक्तियों के समक्ष माफी मांगी थी। वह बहुत ही धार्मिक प्रवृत्ति के थे एवं उस सीन को लेकर बहुत बुरा महसूस कर रहे थे। वह महादेव के बड़े भक्त थे। वह सच में अच्छे शख्स थे।'

जब हनुमान जी के दर्शन के लिए 'लंकापति रावण' ने जोड़े थे हाथ, लेकिन पुजारी ने नहीं दिया था प्रवेश

अरविंद त्रिवेदी नहीं अमरीश पुरी को मिलना था 'रावण' का किरदार, फिर इस तरह मिला रोल

पीएम मोदी ने स्वामित्व योजना के 1,71,000 लाभार्थियों को वितरित किए ई-प्रॉपर्टी कार्ड

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -