मांगे नहीं मानने पर पद्म भूषण सरकार को लौटा सकते है अन्ना

Feb 04 2019 08:41 AM
मांगे नहीं मानने पर पद्म भूषण सरकार को लौटा सकते है अन्ना

पुणे : आमरण अनशन पर बैठे अन्ना हजारे ने रविवार को चेतावनी दी कि यदि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने अपने वादे पूरे नहीं किए तो वह अपना पद्म भूषण सम्मान सरकार को लौटा देंगे। अन्ना अपने गांव रालेगण सिद्धि में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं, जिसे रविवार को 5 दिन पूरे हो गए। 

उत्तरप्रदेश में इस बीमारी से बचाव के लिए चलेगा 'दस्‍तक' अभियान

मोदी ने तोड़ा विश्वास

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को एनडीए गठबंधन में भाजपा के साथी दल शिव सेना ने अन्ना हजारे की मांगों का समर्थन करने की घोषणा की। शिवसेना ने अन्ना से समाजवादी नेता का अनुसरण करते हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन का नेतृत्व संभालने की अपील की। अन्ना हजारे ने अहमदनगर जिले में स्थित अपने पैतृक गांव रालेगण सिद्धि में बुधवार को भूख हड़तार शुरू की थी। अन्ना हजारे ने कहा कि मोदी सरकार ने लोगों का विश्वास तोड़ा है।

अंतरिम बजट को लेकर कुछ ऐसा बोले मंत्री पीयूष गोयल

सम्मान लौटाएंगे अन्ना हजारे 

जानकारी के लिए बता दें अन्ना ने अगले कुछ दिन में अपनी मांगें नहीं मानने पर देश का तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण लौटा देने की चेतावनी दी है.अन्ना की स्वास्थ्य जांच करने के बाद बताया जा रहा है कि खाना नहीं खाने के कारण उनका 4 किलोग्राम वजन कम हो चुका है. वही अन्ना की मांगों के समर्थन में ग्रामीणों ने अहमदनगर-पुणे हाईवे पर जाम लगा दिया। 

भुवनेश्वर में अस्पताल कीं पांचवी मंजिल पर आग से मचा हड़कंप

छत्तीसगढ़: सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में एक महिला नक्सली ढेर, एक अन्य घायल

Honor Days Sale की धूम, 283 रु में घर आ जाएगा Honor 9 Lite