महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री से संबंधित कंपनियों पर IT की रेड

मुंबई: महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार से संबंधित कंपनियों पर इनकम टैक्स विभाग ने छापेमारी कर दी है। ऐसे में खुद अजित पवार ने इस बात को माना है कि आज उनसे संबंधित कंपनियों पर छापे पड़े। वहीँ दूसरी तरफ अजीत पवार ने यह भी कहा है कि उन्हें आईटी विभाग की कार्रवाई से कोई शिकायत नहीं है, लेकिन अपने रिश्तेदारों की कंपनियों के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई पर बुरा लगता है।

आज ही राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता अजीत पवार ने मुंबई में संवाददाताओं से कहा, 'यह सच है कि आईटी विभाग ने मुझसे संबंधित कुछ फर्मों पर छापा मारा है। यह उनका अधिकार है ।।। मुझे नहीं पता कि क्या ये छापे राजनीतिक उद्देश्यों के लिए किए गए थे या फिर वे अधिक जानकारी चाहते हैं, क्योंकि हम समय पर टैक्स का भुगतान कर रहे हैं।' वहीं आगे उन्होंने कहा, 'मेरा एकमात्र दुख यह है कि उन्होंने मेरी तीन बहनों से संबंधित परिसरों पर छापेमारी की है। उनमें से एक कोल्हापुर में रहती हैं और अन्य दो पुणे में।'

इसी के साथ उपमुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि, 'मैं उन पर छापे के पीछे का कारण नहीं समझ सका। अगर वे मेरी बहनें हैं, इसलिए छापे मारे गए तो राज्य के लोगों को सोचना चाहिए कि केंद्रीय एजेंसियों का किस स्तर पर दुरुपयोग किया जा रहा है।' आप सभी को बता दें कि अजीत पवार का नाम जुलाई में महाराष्ट्र स्टेट को-ऑपरेटिव (एमएससी) बैंक से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सामने आया था। वहीं प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने केस के सिलसिले में सतारा जिले की एक चीनी मिल की 65।75 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की थी।

मुकेश अंबानी से करोड़ों वसूलने के लिए रची गई थी साजिश, NIA ने खोला एंटीलिया केस का 'कच्चा चिट्ठा'

महाराष्ट्र में भी बिना गरबे का मनेगी नवरात्री, उद्धव सरकार ने जारी की गाइडलाइन्स

असम व महाराष्ट्र उपचुनाव: कांग्रेस ने किया उम्मीदवारों के नामों का ऐलान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -