M.phil छोड़ आतंकी बने जुबैर वानी को मिली हिज्बुल मुजाहिदीन की कमान

श्रीनगर: केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर से संविधान की धारा 370 खत्म होने के बाद भारतीय सुरक्षाबलों ने आतंकी संगठनों के खिलाफ ऑपरेशन तेज कर दिए हैं। पिछले छह माह में ही सैन्यकर्मियों ने दो बड़े एनकाउंटर में आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन के दो कमांडरों को ढेर कर दिया है। अब हिज्बुल मुजाहिदीन ने देहरादून कॉलेज के एमफिल ड्रॉपआउट छात्र जुबैर वानी को कश्मीर में अपना कमांडर नियुक्त किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, 31 वर्षीय वानी 2018 में हिज्बुल में भर्ती हुआ था। उसका परिवार कश्मीर के अनंतनाग जिले के अंतर्गत आने वाले देहरुना गांव का निवासी है। वानी अपने परिवार में इकलौता पढ़ा-लिखा शख्स था, जो उत्तराखंड में पढ़ाई छोड़कर आतंकी संगठन में भर्ती हो गया। बता दें कि सुरक्षाबलों ने बीते रविवार को हिज्बुल कमांडर सैफुल्लाह मीर को ढेर कर दिया था। 

इससे पहले मई में आतंकी संगठन का सरगना रियाज नाइकू भी एनकाउंटर में मारा गया था। भारतीय जवानों के इन दो बड़े ऑपरेशन के बाद हिज्बुल ने अपने सबसे पुराने आतंकी अशरफ मौलवी उर्फ अशरफ खान के बजाए वानी को संगठन का नया कमांडर बनाया है। सूत्रों का कहना है कि मौलवी इस समय किडनी की परेशानी से जूझ रहा है और पहले कई बार आतंक छोड़ने की तरफ इशारा कर चुका है।

अमेरिका चुनाव के रोमांच से निवेशकों की चांदी, पांच दिन में कमाया 6 लाख करोड़ का मुनाफा

भारतीय बाजारों में तेजी, एफपीआई ने किया करोड़ो का निवेश

पेट्रोल डीज़ल के भाव आज भी स्थिर, जानिए महानगरों में क्या है कीमतें

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -