‘जब चाहे मालिक करेगा S**X, गुलाम को झुकना पड़ेगा’, इस कंपनी के CEO पर लगे गंभीर आरोप

‘जब चाहे मालिक करेगा S**X, गुलाम को झुकना पड़ेगा’, इस कंपनी के CEO पर लगे गंभीर आरोप
Share:

सैन फ्रांसिस्को टेक कंपनी 'Tradeshift' के CEO क्रिश्चियन लैंग पर अपनी कार्यकारी सहायक को काम पर रखने के कुछ महीनों के भीतर अपना गुलाम बनने के अनुबंध पर हस्ताक्षर करवाकर उसका यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया गया है। पीड़िता का नाम कोर्ट डॉक्यूमेंट में जेन डो कहा गया है। उसने अपनी शिकायत में बताया कि उसका रेप वर्षों से किया जा रहा था। पीड़िता ने कहा कि उसे विभिन्न तरीरकों से शारीरिक दर्द दिए गए। कभी उसके ऊपर पेशाब किया गया तो कभी विदेशी चीजों को उसके प्राइवेट पार्ट में डाला जाता था।

कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक ‘स्लेव’ को हमेशा अपने मालिक के लिए सेक्सुअल फेवर देने के लिए उपलब्ध रहना था, जब भी उसके मालिक को सेक्स की आवश्यकता लगती तो कॉन्ट्रैक्ट के हिसाब से वो उन्हें नहीं मना कर सकती थीं चाहे उसका मन हो या नहीं। इतना ही नही कॉन्ट्रैक्ट के अनुसार, लड़की को ये भी करने को कहा गया था कि वो जब भी अपने मालिक को अकेले में देखें तो घुटनों पर झुककर उनसे पूछे कि वो उनके लिए क्या कर सकती है। दस्तावेज में बताया गया था महिला को गुलाम बनाकर दी जाने सजाओं का भी जिक्र था। इसमें लिखा था कि मालिक जो चाहे वो सजा गुलाम को दे सकता है। मगर मालिक की ये जिम्मेदारी होगी कि वो सजा देते वक़्त महिला को जान से नहीं मारेगा और न उसे पर्मानेंट इंजरी देगा। इतना ही नहीं कॉन्ट्रैक्ट में ये भी था गुलाम कैसे भी करके इन सजाओं को पाकर नाराज नहीं हो सकती थी तथा न ही अपने मालिक से नाराजगी जता सकती थी।

महिला ने शिकायत में कहा कि उसे लैंग ने खून निकालने तक मारा एवं निर्जीव वस्तुओं के जरिए उसका उत्पीड़न किया। उसे कॉन्ट्रैक्ट में बताया गया था कि वो हमेशा ढंग से तैयार होकर रहे और स्वयं का वजन 130 से 155 पाउंड रखे। इसके अतिरिक्त गुलाम का समर्पण मालिक के प्रति हर प्रकार से रहना चाहिए। उसका शरीर मालिक का होना चाहिए। वो यदि उसे फिट देखना चाहता है तो शरीर को फिट ही होना चाहिए। अदालत में दी शिकायत के मुताबिक, महिला को अपनी जॉब Tradeshift में प्यारी थी इसलिए उसे ये सब करना पड़ा। बाद में उसने शारीरिक प्रताड़नाओं से परेशां होकर शिकायत दी। इस शिकायत के पश्चात् ट्रेडशिफ्ट ने अपने ऊपर लगाए इल्जामों को नकारा और कड़ा फैसला लेते हुए क्रिश्चियन को उसके पद से टर्मिनेट कर दिया। मेल में कंपनी ने कहा कि लैंग के खिलाफ बहुत सारी शिकायतें प्राप्त हो रही थीं।

वहीं लैंग ने कहा कि उन दोनों के बीच बने संबंध रजामंदी के थे न कि किसी जोर जबरदस्ती के। उसने अदालत में डाली गई शिकायत पर को मानहानि करने वाला बताया। उसने कहा पूरा मुकदमा झूठा है। उसके अनुसार, CEO रहते हुए उसने किसी का यौन उत्पीड़न नहीं किया। महिला से संबंध थे लेकिन वो पहले के थे। उसके कंपनी ज्वाइन करने के बाद वो सब समाप्त हो गया। कई लोगों को क्रिश्चियन लैंग की हरकत देखने के पश्चात् फिफ्टी शेड्स ऑफ ग्रे फिल्म की स्क्रिप्ट याद आ रही है। इस फिल्म में भी एक बिजनेसमैन ने महिला को सेक्स के लिए कॉन्ट्रैक्ट साइन करने को कहा था।

कंडक्टर को बस थमाकर ड्राइवर आरिफ ने तेज़ किया म्यूजिक और करने लगा युवती से बलात्कार, फिर...

CM पद की शपथ लेते ही भजनलाल शर्मा ने लिया ये बड़ा फैसला

पहली बर्फबारी में ही चौपट हो गई औली की व्यवस्था, पाला गिरने से फंसे पर्यटक

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -