तिरंगा फहराने से पहले जान लें यह नियम

Jan 25 2020 09:00 PM
तिरंगा फहराने से पहले जान लें यह नियम

हर साल स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर तिरंगा फहराया जाता है। ऐसे में इस साल यानी 2020 में 26 जनवरी आने वाला है और इस दिन भी तिरंगा फहराया जाने वाला है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं तिरंगा फहराने के भी कुछ नियम हैं। आइए जानते हैं।

1. झंडा हाथ से काते और बुने गए ऊनी, सूती, सिल्क या खादी से बना हुआ होना चाहिए और झंडे का आकार आयताकार होना चाहिए। साथ ही इसकी लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 3:2 का होना चाहिए। ध्यान रहे केसरिया रंग को नीचे की तरफ करके झंडा लगाया या फहराया नहीं जा सकता।

2. ध्यान रहे सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच ही तिरंगा फहराया जा सकता है और झंडे को कभी भी जमीन पर नहीं रखा जा सकता। इसी के साथ झंडे को आधा झुकाकर नहीं फहराया जाएगा।

3. ध्यान रहे झंडे को कभी पानी में नहीं डुबोया जा सकता और झंडे के किसी भाग को जलाने, नुकसान पहुंचाने के अलावा मौखिक या शाब्दिक तौर पर इसका अपमान नहीं करना चाहिए। ऐसा करने पर आपको तीन साल तक की जेल या जुर्माना, या दोनों हो सकते हैं।

4. झंडे को सलामी देने के लिए झुकाया नहीं जाना चाहिए और अगर कोई शख्स झंडे को किसी के आगे झुका देता हो, उसका वस्त्र बना देता हो, मूर्ति में लपेट देता हो या फिर किसी मृत व्यक्ति (शहीद आर्म्ड फोर्सेज के जवानों के अलावा) के शव पर डालता हो, तो इसे तिरंगे का अपमान माना जाता है।

5. तिरंगे की यूनिफॉर्म बनाकर नहीं पहनना चाहिए और तिरंगे को अंडरगार्मेंट्स, रुमाल या कुशन आदि बनाकर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

6. झंडे पर किसी तरह के अक्षर नहीं लिखने चाहिर और खास मौकों और राष्ट्रीय दिवसों जैसे गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर झंडा फहराए जाने से पहले उसमें फूलों की पंखुड़ियां रखना चाहिए।

7. फहराए गए झंडे की स्थिति सम्मानजनक होनी चाहिए। फटा या मैला-कुचैला झंडा नहीं फहराया जाना चाहिए और झंडा फट जाए, मैला हो जाए तो उसे एकांत में मर्यादित तरीके से पूरी तरह नष्ट करना चाहिए।

Republic Day 2020: 26 जनवरी 1950 को प्रथम राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने शपथ ग्रहण करने के बाद किया ये काम

गणतंत्र दिवस को लेकर दिल्ली में बढ़ाई गई सुरक्षा, चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात

Republic Day पर अपने बच्चों के लिए बनाए तिरंगा नूडल्स