चैम्पियंस लीग के फाइनल में लिवरपूल ने टॉटेनहैम हॉटस्पर को 2-0 से दी करारी शिकस्त

लंदन : चैम्पियंस लीग के फाइनल में स्टार टीम लिवरपूल ने टॉटेनहैम हॉटस्पर को 2-0 से हरा दिया। उसने छठी बार खिताब अपने नाम किया। लिवरपूल 14 साल बाद चैम्पियन बना। पिछली बार 2005 में इटली के क्लब मिलान को हराकर उसने खिताब अपने नाम किया था। स्पेन के शहर मैड्रिड के वांदा मेट्रोपोलितानो स्टेडियम पर खेले गए इस मुकाबले में लिवरपूल के लिए मोहम्मद सालाह और डिवॉक ओरिगि ने गोल किया।

फ्रेंच ओपन : रोजर फेडरर ने की क्वार्टर फाइनल में शानदार एंट्री

ऐसा रहा पूरा मुकाबला 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सालाह ने दूसरे मिनट में पेनल्टी पर गोल किया। इसके बाद ओरिगि ने 87वें मिनट में दूसरा गोल दाग दिया। सालाह ने चैम्पियंस लीग फाइनल का दूसरा सबसे तेज गोल किया। सबसे तेज गोल करने का रिकॉर्ड पाओलो माल्दिनी के नाम है। उन्होंने 2005 में मिलान की ओर से खेलते हुए लिवरपूल के खिलाफ गोल किया था।

World Cup 2019 : आज इंग्लैंड से होगा पाकिस्तान का मुकाबला, ऐसी है दोंनो टीमों की तैयारी

यह बने पहले फुटबॉलर 

जानकारी के लिए बता दें सालाह चैम्पियंस लीग के फाइनल में गोल करने वाले मिस्र के पहले फुटबॉलर बने। वे फाइनल में गोल करने वाले पांचवें अफ्रीकी फुटबॉलर हैं। टॉटेनहैम के सिसोको ने सादियो माने को पहले मिनट में पेनल्टी एरिया में गिरा दिया, जिसके बाद लिवरपूल को पेनल्टी मिल गई। टॉटेनहैम की टीम पहली बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी। यूरोप के इस सबसे बड़े टूर्नामेंट में 11 साल बाद इंग्लैंड के दो क्लब के बीच फाइनल हुआ।

शेन वार्न का दावा, कहा - भारत के पास विश्व विजेता बनने का बेहतर मौका

BAN vs SA LIVE : सधी हुई शुरुआत के साथ बांग्लादेश ने पार किया 100 का आंकड़ा

प्रैक्टिस सेशन के दौरान चोटिल हुए विराट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -