बंगाल: परिवार सहित घर में 'नज़रबंद' हुए वैज्ञानिक गोबर्धन दास, TMC के गुंडों ने फेंके क्रूड बम

May 04 2021 01:24 PM
बंगाल: परिवार सहित घर में 'नज़रबंद' हुए वैज्ञानिक गोबर्धन दास, TMC के गुंडों ने फेंके क्रूड बम

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (TMC) की जीत के बाद से उसके गुंडे ऐसा 'खुनी खेला' खेल रहे हैं कि भाजपा तो दूर, कांग्रेस और वामदल तक भी त्राहिमाम कर उठे हैं। राज्य में 100 से अधिक भाजपा कार्यालयों और कार्यकर्ताओं के घरों में तोड़फोड़ आगज़नी कर दी गई है। दो महिला पोल एजेंट्स के साथ सामूहिक दुष्कर्म की खबर सामने आई है, जिसे बंगाल पुलिस फर्जी बता रही है। अब पूर्बस्थली उत्तर से भाजपा प्रत्याशी पर हमले की खबर सामने आ रही है।

खबर आ रही है कि पूर्बस्थली उत्तर से भाजपा प्रत्याशी और वैज्ञानिक गोबर्धन दास पर हमला हुआ है। TMC के गुंडों ने ऐसा वहां ऐसा आतंक मचाया है कि गोबर्धन दास की जान पर बन आई है। वैज्ञानिक आनंद रंगनाथन ने सोशल मीडिया के जरिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से गोबर्धन दास की सुरक्षा की मांग की है। उस गाँव में भाजपा कार्यकर्ताओं के कई घरों को तबाह कर दिया गया है और जमकर तोड़फोड़ मचाई गई है। दास के घर पर भी हमला किया गया है। TMC के गुंडों ने उनके घर को चारों ओर से घेर लिया, जिससे वे और उनका परिवार घर में ही नज़रबंद हो गया है। इसके साथ ही उनके घर पर क्रूड बम भी फेंके गए हैं। आनंद रंगनाथन ने कहा है कि बमबारी के बीच वे अपने घर में घिरे हुए हैं। इसके बाद उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्रालय से सहायता माँगी है, जिस पर संज्ञान लिया गया और कार्रवाई का आश्वासन दिया गया।

बकौल आनंद रंगनाथन, गृह मंत्रालय ने गोबर्धन दास से संपर्क किया है और कहा है कि जल्द ही CRPF उनके गाँव में पहुँचेगी। बता दें कि गोबर्धन दास JNU में मॉलिक्यूलर मेडिसिन में प्रोफेसर हैं। इसके साथ ही वे अमेरिका के हस्टन मेथोडिस्ट हॉस्पिटल में ‘पैथोलॉजी एंड जीनोमिक मेडिसिन’ के एडजसेन्ट प्रोफेसर के रूप में भी कार्यरत हैं। भाजपा ने उन्हें इस बार चुनाव में उतारा था। गवर्नर जगदीप धनखड़ ने DGP और कोलकाता के पुलिस आयुक्त को तलब कर रिपोर्ट माँगी थी, मगर अब तक उन्हें हिंसा की रिपोर्ट नहीं दी गई है। इसी बीच भाजपा ने अपने 9 कार्यकर्ताओं की हत्या की सूचना दी है। 

 

बंगाल चुनाव के बाद भड़की हिंसा, भाजपा ने 5 मई को राष्ट्रव्यापी धरने की घोषणा की

बंगाल में बेहतर प्रदर्शन के बाद भी राज्यसभा में भाजपा को ख़ास फायदा नहीं, बढ़ेगी सिर्फ एक सीट

कोरोना काल में स्वास्थ्यकर्मियों को योगी सरकार का बड़ा तोहफा, मानदेय में की इतनी वृद्धि