कश्मीर में बढ़ी सख्ती तो आतंकियों ने किया जम्मू का रुख

कश्मीर में बढ़ी सख्ती तो आतंकियों ने किया जम्मू का रुख

जम्मू: बीते 5 वर्षों में कश्मीर में सक्रिय आतंकियों को यहां काफी हद तक मार गिराया, तो दूसरी तरफ उनको हथियार, पैसे की सप्लाई करने वालों पर भी शिकंजा कस दिया है. वहीं यह बह कहा जा रहा है कि आतंकियों के लिए काम करने वालों पर कार्रवाई हुई और इनका समर्थन करने वालों को जेल के अंदर किया गया. शायद यही एक कारण है कि आतंकी गतिविधियों को जारी रखने के लिए आतंकी कश्मीर की जगह जम्मू का रुख कर रहे हैं. संभाग में आतंकियों का बड़ा नेटवर्क है, जिसको ध्वस्त करने के लिए नई रणनीति के तहत काम शुरू किया गया है.

जानकारी के अनुसार यदि हम बात करें सूत्रों कि तो इस बात का पता चला है कि सूत्रों का कहना है कि नगरोटा आतंकी हमले की जांच इस नेटवर्क को ध्वस्त करने में कारगार साबित होगी. इस जांच में जम्मू संभाग में आतंकियों के नेटवर्क का बड़ा पर्दाफाश होने की संभावना है. इसमें कश्मीर, जम्मू और पंजाब का नाम शामिल है. तीनों ही जगहों पर आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद, हिजबुल का नेटवर्क सक्रिय है. जंहा यह भी कहा जा रहा है कि पिछले तीन सालों से कश्मीर में आतंकियों के पहुंचने और उनको हथियार भेजने का सिलसिला जम्मू से ही चल रहा है, जो एक बड़ी चुनौती है.

वहीं इस बात पर भी गौर किया गया है कि जांच से जुड़े एक अफसर ने बताया कि जम्मू संभाग में किश्तवाड़, सांबा, कठुआ, जम्मू का एरिया आतंकियों की ओर से इस्तेमाल हो रहा है. आतंकी भी जा रहे हैं और हथियारों की सप्लाई भी हो रही है. कश्मीर में आतंकियों की फंडिंग पर शिकंजा कसा तो जम्मू की तरफ रुख कर रहे हैं. जम्मू के जरिए फंडिंग कराने की कोशिश है. एक बड़ा नेटवर्क है, जिसका पर्दाफाश किया जाएगा.

दो युवकों ने बर्फानी तेंदुओं को बेहद करीब से मोबाइल में किया कैद

खांसी-जुकाम की दवा छापे के बाद हुई जब्त, हिमाचल में बिक्री पर लगी रोक

हिमाचल मंत्रिमंडल की बैठक में होंगे कई अहम फैसले, कैबिनेट मीटिंग आज