तालिबान ने संभाली उत्तरी अफगान सीमाओं की कमान: रूस

रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु के हवाले से मास्को के लिए सुरक्षा को बढ़ाते हुए तालिबान आतंकवादियों ने ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के साथ अफगानिस्तान की सीमाओं पर नियंत्रण कर लिया है। तालिबान, 2001 के निष्कासन के बाद सख्त इस्लामी कानून को फिर से लागू करने के लिए लड़ रहे थे, उसने बुधवार को उत्तरी अफगानिस्तान के एक अन्य शहर पर कब्जा कर लिया।

वही एक अधिकारी ने कहा, वे पूर्व सोवियत मध्य एशिया से सटे देश के अधिकांश उत्तरी प्रांतों को नियंत्रित करते हैं। यूरोपीय संघ के एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि अफगानिस्तान के 65 फीसदी हिस्से पर अब उग्रवादियों का दबदबा है। शोइगू ने कहा कि तालिबान ने सीमा पार नहीं करने का वादा किया है, लेकिन मॉस्को क्षेत्र में अपने सहयोगियों के साथ संयुक्त अभ्यास करना जारी रखेगा। 

रूस ताजिकिस्तान में एक सैन्य अड्डे का संचालन करता है और पूर्व सोवियत गणराज्य मास्को के नेतृत्व वाले सैन्य ब्लॉक का सदस्य है, जिसका अर्थ है कि आक्रमण की स्थिति में मास्को इसकी रक्षा करने के लिए बाध्य होगा। उज्बेकिस्तान के भी रूस के साथ घनिष्ठ संबंध हैं। रूस ने इस महीने अफगान सीमा के पास उज्बेकिस्तान और ताजिकिस्तान के साथ अभ्यास किया था। रूस ने नए बख्तरबंद वाहनों और आग्नेयास्त्रों के साथ ताजिकिस्तान में अपने सैन्य अड्डे को भी मजबूत किया है। सोवियत संघ ने 1979 से 1989 तक अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया, जिससे उसके 15,000 सैनिक मारे गए और दसियों हज़ार घायल हो गए।

COVAX सुविधा के माध्यम से बांग्लादेश को मिले चीनी कोविड टीके

दिल्ली में अमेरिकी राजनयिक ने की दलाई लामा के प्रतिनिधि से मुलाकात

12 मार्च के बाद फिर बढ़ा ब्रिटेन में मौत का आंकड़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -