शॉकिंग! अपने ही घर में जख्मी हालत में मिले पटना साहिब गुरुद्वारे के प्रमुख ग्रंथी, हुए भर्ती

पटना: बिहार की राजधानी पटना में गुरु गोबिंद सिंह का जन्मस्थान तख्त श्रीहरमंदिर साहिब के मुख्य ग्रंथी राजेंद्र सिंह अपने घर पर रहस्यमय हालातों में चोटिल मिले। पुलिस अफसर ने कहा कि उनको पहली बार उनकी बीवी ने देखा तो बहुत खून बह रहा था उनकी गर्दन पर चोट लगी थी। SHO ने बताया कि उनके परिवार के लोग उन्हें तत्काल नजदीकी हॉस्पिटल ले गए तथा वहां से उन्हें पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (PMCH) ले जाया गया। उन्होंने बताया कि पुलिस ने अब तक कोई तहकीकात आरम्भ नहीं की है क्योंकि इस सिलसिले में उनके परिवार की तरफ से कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है।

वही मामले की तहरीर चौक थाना पुलिस को प्राप्त हुई थी। पुलिस को कहा गया कि भाई राजेंद्र सिंह की गर्दन पर धारदार हथियार से हमला किया गया है। मगर पुलिस उसके परिवार के सदस्यों से शिकायत प्राप्त किए बगैर औपचारिक तहकीकात आरम्भ नहीं कर सकती है। अभी तक अन्य तख्त श्री हरमंदिर साहिब जी के किसी पदाधिकारी ने कोई टिप्पणी नहीं की है।

वही पटना का श्रीहरमंदिर साहिब सिखों के 10वें एवं अंतिम गुरु गोबिंद सिंह जी की जन्मस्थली है। गुरु गोबिंद सिंह का जन्म 22 दिसंबर 1666 को पटना में हुआ था। सिखों की आस्था से संबंधित ऐतिहासिक दर्शनीय स्थल है। जन्म स्थान पर महाराजा रणजीत सिंह ने गुरुद्वारा का निर्माण कराया था। इस लोकप्रिय तथा एतिहासिक गुरुद्वारे में गुरु गोबिंद सिंह की कृपाण, उनकी खड़ाऊं तथा कंघा विराजमान है। इस गुरुद्वारे को तख्त श्री पटना साहिब भी बोला जाता है 'ग्रंथी', सिख धर्म के पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब के संरक्षक के तौर पर कार्य करते हैं।

सेना दिवस: भारत के पास है दुनिया की सबसे बड़ी “स्वैच्छिक” सेना, जानिए रोचक तथ्य

आज हर सीट पर BJP तैयार करेगी तीन नामों का पैनल

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए आज आ सकती है कांग्रेस की पहली सूची

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -