'फर्श पर नींद, भोजन में केवल नारियल पानी..', 11 दिनों के कठोर अनुष्ठान में क्या-क्या कर रहे पीएम मोदी ?

'फर्श पर नींद, भोजन में केवल नारियल पानी..', 11 दिनों के कठोर अनुष्ठान में क्या-क्या कर रहे पीएम मोदी ?
Share:

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा से पहले होने वाले 11 दिवसीय 'अनुष्ठान' (विशेष अनुष्ठान) के लिए फर्श पर सो रहे हैं और केवल नारियल पानी पी रहे हैं। सूत्रों द्वारा ये जानकारी सामने आई है। दरअसल, पीएम मोदी ने 12 जनवरी को अपने  11 दिवसीय अनुष्ठान की घोषणा तो कर दी थी, मगर इस दौरान वो क्या करने वाले हैं, ये पूरी तरह पता नहीं चला था। कहा गया था कि 11 दिनों तक पीएम मोदी यम-नियम का पालन करेंगे। 

उन्होंने 12 जनवरी को अनुष्ठान शुरू करने की घोषणा की और कहा कि प्राण प्रतिष्ठा के "ऐतिहासिक" और "शुभ" अवसर का गवाह बनने का उन्हें सौभाग्य मिला। प्रधान मंत्री ने कहा कि भगवान ने उन्हें प्राण प्रतिष्ठा अभ्यास के दौरान सभी भारतीयों का प्रतिनिधित्व करने के लिए एक साधन के रूप में चुना है और वह इसे ध्यान में रखते हुए 11 दिवसीय विशेष धार्मिक अभ्यास कर रहे हैं। अधिकारियों ने कहा कि पीएम मोदी 11 दिनों तक 'यम नियम' का पालन करेंगे और उन्होंने शास्त्रों में दिए गए सभी निर्देशों का सख्ती से पालन करने का फैसला किया है।

'यम नियम' अपने अभ्यासकर्ताओं के लिए योग, ध्यान और विभिन्न पहलुओं में अनुशासन सहित कई कठोर उपायों का वर्णन करता है। अधिकारियों के अनुसार, पीएम मोदी पहले से ही अपने दैनिक जीवन में इनमें से कई अनुशासनों का पालन करते हैं, जिनमें सूर्योदय से पहले शुभ समय में जागना, ध्यान करना और 'सात्विक' भोजन करना शामिल है। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने 11 दिनों तक कठोर तपस्या के साथ उपवास रखने का भी फैसला किया है। जिसमे वह केवल नारियल पानी पी रहे हैं और फर्श पर सो रहे हैं। 

अभिषेक को देवता की मूर्ति में दिव्य चेतना की अभिव्यक्ति के रूप में वर्णित किया गया है। शास्त्रों में अभिषेक से पहले व्रत के नियमों के बारे में दिशानिर्देश दिए गए हैं। श्री राम मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा के अनुसार, 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा से पहले, राम लला की मूर्ति को बुधवार रात को अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह के अंदर लाया गया। 22 जनवरी के अभिषेक समारोह के लिए कई अनुष्ठान किए जा रहे हैं और कार्यक्रम की पूर्व संध्या तक जारी रहेंगे। पीएम मोदी इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे, जो अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन का भी प्रतीक होगा। मंदिर ट्रस्ट के मुताबिक, राजनेता, मशहूर हस्तियां, उद्योगपति, संत समेत 7,000 से ज्यादा लोग समारोह में शामिल होंगे।

जब वहां पहले से रामलला विराजमान हैं, तो नई मूर्ति की स्थापना क्यों? ट्रस्ट को शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद का पत्र, पूछे कई सवाल

'भाजपा से मिले हुए हैं कमलनाथ..', कहने वाले कांग्रेस नेता अलोक शर्मा को हाईकमान का कारण बताओ नोटिस

'स्वच्छता अभियान' में शामिल हुए गोवा CM प्रमोद सावंत, की मंदिर परिसरों की सफाई

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -