विदेश में भी राहुल गांधी ने करवा ली अपनी किरकिरी, भारत विरोधी बात कहने पर मिला करारा जवाब, Video

नई दिल्ली: लंदन स्थित कैंब्रिज यूनिवर्सटी पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का सामना भारतीय सिविल सेवा अधिकारी सिद्धार्थ वर्मा से हो गया। इस कार्यक्रम के दौरान दोनों में राष्ट्र और राज्य के मुद्दे पर जमकर सवाल-जवाब हुए। इस पूरी चर्चा का वीडियो अधिकारी ने ट्विटर पर भी साझा किया है। दरअसल, राहुल गांधी ने 'इंडिया एट 75' विषय पर विचार पेश किए थे। अधिकारी ने वीडियो को पोस्ट करते हुए ट्वीट किया कि, 'कल मैंने कैंब्रिज में राहुल गांधी से उनके बयान 'भारत राष्ट्र नहीं है, बल्कि राज्यों का संघ' है को लेकर सवाल पुछा। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि भारत एक राष्ट्र नहीं है, बल्कि राज्यों के बीच का समझौता है।'

 

वीडियो में सिद्धार्थ वर्मा, राहुल गांधी से कह रहे हैं कि, 'आपने यह कहते हुए संविधान के अनुच्छेद 1 का हवाला दिया कि संविधान के आधार पर भारत राज्यों का संघ है। यदि एक पन्ना पहले जाएंगे और प्रस्तावना देखेंगे, तो इसमें साफ़ लिखा हुआ है कि भारत एक राष्ट्र है। भारत अपने आप में सबसे प्राचीन जीवित सभ्यताओं में से एक है और इस शब्द की उत्पत्ति वेदों में हुई है और हम काफी पुरानी सभ्यता हैं।' उन्होंने आगे कहा कि, 'यहां तक कि जब चाणक्य ने भी तक्षशिला में विद्यार्थियों के साथ चर्चा की थी, तो उन्होंने भी स्पष्ट किया था कि वे भले ही विभिन्न जनपदों से आते हों, मगर अंत में उनका संबंध भारत से है।' इसपर राहुल गांधी ने जवाब देते हुए कहा कि, 'क्या उन्होंने नेशन शब्द का उपयोग किया था?' तो अधिकारी ने बताया उन्होंने 'राष्ट्र' शब्द का इस्तेमाल किया था। राहुल ने अपनी बात संभालते हुए कहा कि, 'राष्ट्र साम्राज्य है।' फिर अधिकारी ने उन्हें समझाया कि, 'नहीं, राष्ट्र, नेशन का संस्कृत शब्द है।'

अधिकारी ने राहुल गांधी से पुछा कि, 'क्या राजनेता के तौर पर आपको नहीं लगता कि भारत को लेकर आपका विचार न सिर्फ गलत है, बल्कि विनाश करने वाला भी है, क्योंकि यह हजारों वर्षों के इतिहास को छिपाने का प्रयास करता है।' राहुल गांधी के साथ हुई बातचीत का वीडियो सामने आने के बाद अधिकारी की हर जगह प्रशंसा हो रही है, वहीं राहुल गांधी को उनकी अपरिपक्व सोच के कारण काफी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। सिद्धार्थ ने समर्थन के लिए लोगों का आभार भी प्रकट किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, 'आज मिले इस समर्थन के लिए बेहद आभारी हूं। मगर यह दर्शाता है कि बड़ी तादाद में भारतीयों के लिए 75 साल पुराना भारत सिर्फ एक छोटी राजनीतिक चीज नहीं है। भारतवर्ष हजारों वर्षों से है और यह अनंतकाल तक रहेगा।'

उधर राहुल गांधी की लोग जमकर आलोचना कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोग कह रहे हैं कि, एक ऐसा राजनेता जो भारत का प्रधानमंत्री बनने की इच्छा रखता हो, उसे भारत का ज्ञान होना जरूरी है। विदेशी धरती पर जाकर ये दर्शाना, कि 'भारत 1947 में ही पैदा हुआ है',  हज़ारों वर्षों पुरानी भारतीय संस्कृति का अपमान है। सोशल मीडिया यूज़र्स कह रहे हैं कि, मुगलों और अंग्रेज़ों के आने के पहले भी भारत था और आगे भी रहेगा । 

'अंबेडकर' के नाम पर जल उठा आंध्र प्रदेश, हिंसक भीड़ ने विधायक और मंत्री के घर फूंके, पुलिस पर पथराव

CM नीतीश संग मतभेद को लेकर आरसीपी सिंह ने दिया ये बड़ा बयान

कर्नाटक हाई कोर्ट, जहाँ जज बैठते हैं उसके पास पढ़ी जा रही नमाज़..., Video वायरल

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -