प्राइमरी स्कूल के जर्जर भवन में पढ़ रहे है छात्र, भविष्य अंधकार में

Jun 20 2019 05:54 PM
प्राइमरी स्कूल के जर्जर भवन में पढ़ रहे है छात्र, भविष्य अंधकार में

रिकांगपिओ : किन्नौर के जानी गांव का सरकारी प्राइमरी स्कूल की जर्जर भवन के कारण दर्जनों छात्रों का भविष्य दांव पर है।  इस सर्दी में अत्यधिक बर्फबारी के चलते जानी गांव का प्राइमरी स्कूल का भवन क्षतिग्रस्त हुआ है। भवन के जर्जर हालत को देख इस सत्र में छात्रों के साथ कोई अनहोनी न हो और पढ़ाई बाधित न हो इसलिए प्राइमरी स्कूल में पढ़ रहे करीब 35 छात्रों को साथ लगते मिडल स्कूल में शिफ्ट किया गया है।

पीएम मोदी और बाबा रामदेव के साथ सेल्फी खींचकर इंटरनेशनल योग-डे मनाएंगे युवा

विद्यालय में पढ़ते है इतने छात्र 

जानकारी के मुताबिक मिडल स्कूल में पहले ही करीब 55 छात्र पढ़ रहे है। मिडल स्कूल जानी में कुल 4 कमरे है। जिस मे एक कमरे में स्कूल ऑफिस, एक कमरे में कंम्प्यूटर रखा है। दो कमरों में ही पहली से आठवीं तक के करीब 90 छात्र पढ़ने को मजबूर है। ऐसा नहीं है कि प्रदेश सरकार और प्रशासन को इस कि जानकारी नहीं है। 

महाराष्ट्र के सतारा में महसूस किये गए भूपंक के दो झटके

नहीं होती कोई कार्यवाही 

इसी के साथ स्थानीय ग्रामीण, जानी पंचायत, स्कूल एसएमसी और स्कूल प्रशासन पहले ही उपनिदेशक प्रारंभिक शिक्षा विभाग किन्नौर, सर्व शिक्षा अभियान, उपायुक्त किन्नौर को लिखित में अवगत करवा चुके है। लेकिन स्कूल के भवन निर्माण और अन्य वैकल्पिक समाधान बारे अब तक कोई करवाई नहीं हुई है। अब दोबारा उपायुक्त किन्नौर गोपाल चंद को ज्ञापन सौंपा गया है।

अरुणाचल की पहाड़ियों में क्रैश हुए विमान एएन-32 में सवार लोगों के शव व अवशेष बरामद

पीएम मोदी ने सभी मंत्रियों को सौंपी योग दिवस पर योगा की जवाबदारी

कुल्लू में 250 फीट गहरी खाई में गिरी कार, हादसे में चार घायल