SC/ST एक्ट हिंसा: क्यों पसंद है दलित समुदाय को नीला रंग

SC/ST एक्ट की हिंसा में देश फ़िलहाल भी जल ही रहा है, आग अभी थमी नहीं है. इस दौरान आपने देखा होगा की प्रदर्शनकारियों के हाथ में नीले कलर के झंडे थे. दलित समुदाय के हाथ में इसी रंग के झंडे या बैनर होते है. ये उत्सुकता का विषय है कि दलितों के संघर्ष का रंग नीला क्यों है. हाल के बरसों में जब भी दलितों का कोई मार्च या रैली निकलती है, तो उसमें नीला रंग लहराता है . आखिर ऐसा क्यों है कि नीला रंग दलितों के प्रतिरोध, संघर्ष और अस्मिता का रंग बनकर उभरा है. 

नीले रंग के पीछे अवधारणा क्या है
नीला रंग आसमान का रंग है, ऐसा रंग जो भेदभाव से रहित दुनिया का प्रतिनिधित्व करता है. जो ये बताता है कि आसमान के तले हर किसी को बराबर होना चाहिए. ये एक थ्योरी है लेकिन इसका कोई पुख्ता आधार नहीं. हालांकि इसकी कई और भी थ्योरी हैं. 

राजनीति में रंग -
भगवा - भारतीय जनता पार्टी और हिंदूवादी दलों का रंग
गहरा नीला - बहुजन समाज पार्टी और दलित दलों का रंग
लाल-हरा- समाजवादी पार्टी का रंग
हरा- अन्ना द्रमुक का रंग
लाल - कम्युनिस्ट पार्टियों का रंग
आसमानी नीला - कांग्रेस
समुद्री नीला - एनसीपी
नीला और सफेद - तृणमूल कांग्रेस

 

SC/ST एक्ट की जलन पर केंद्र का सरकारी मरहम

ST/SC एक्ट में देश जल रहा था, यूपी पुलिस मुस्कुरा रही थी

न्यूज़ ट्रैक: 5 अप्रैल सुबह की बड़ी खबरें

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -