हवालात पहुंचते ही फूट-फूटकर रोने लगे सुशील कुमार, मगर केस को लेकर नहीं खोला अपना मुंह

सागर धनखड़ मर्डर केस में गिरफ्तार हुए ओलंपिक पदक विजेता रेसलर सुशील कुमार से सवाल-जवाब का सिलसिला जारी है। अपराध शाखा के आला अफसरों के अनुसार, सुशील कुमार जांच में मदद नहीं कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, गैंगेस्टर के साथ रिश्तों को लेकर सुशील कुमार मुंह खोलने को तैयार नहीं हैं। अब गिरफ्तार किए गए चार अपराधियों को सामने बैठाकर पूछताछ की जाएगी।

दिल्ली पुलिस ने सागर मर्डर मामले में काला असौदा-नीरज बवाना गैंग के चार सदस्यों को हिरासत में लिया है। भूपेंद्र, मोहित, गुलाब और मंजीत ने पूछताछ के चलते सागर की हत्या का पूरा षड्यंत्र तथा घटनाओं के क्रम का खुलासा किया है। अब तक इस मामले में सुशील कुमार सहित सात अपराधी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। वही इस बीच दिल्ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि ओलंपियन, स्टार रेसलर, पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त सुशील कुमार किसी पेशेवर मुजरिम की भांति दिल्ली के मॉडल टाउन थाने की हवालात में फर्श पर बैठे रो रहे थे। स्थिति ये थी कि उनको बैठने के लिए एक बेंच तक नहीं प्राप्त हुआ, अर्श से फ़र्श तक की कहावत इस समय यदि किसी पर सबसे सटीक बैठती है, तो वो सुशील कुमार ही हैं। 

दरअसल, सुशील कुमार को गिरफ्तार करने के पश्चात् दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से उनके तथा उनके साथी अजय बक्करवाला के 12 दिनों की हिरासत मांगी थी, मगर अदालत से छह दिनों की हिरासत ही मिल सकी, जिसके पश्चात् पुलिस उन्हें लेकर मॉडल टाउन के उस फ्लैट और छत्रसाल स्टेडियम तक भी गई, जहां से वारदात का आरम्भ हुआ तथा जहां वारदात समाप्त हुई। इस के चलते सुशील कुमार पूछताछ में कई बार विरोधाभासी बातें बोलते रहे। हालांकि तब तक उनसे कायदे से पूछताछ नहीं हुई थी, मगर जब बाहर की कार्रवाई तथा दौरों के पश्चात् पुलिस की टीम उन्हें लेकर मॉडल टाउन थाने के हवालात तक पहुंची, तो सुशील के आंसुओं का पैमाना छलक गया। हवालात के भीतर पहुंचते ही सुशील रोने लगे।

पुलिसकर्मी के बेटे मुबारक अली ने की दो गर्भवती गायों की हत्या, किसान को मिला कटा हुआ सिर

3 महीने पहले धर्म बदलकर सलमान से किया निकाह, अब फांसी के फंदे पर लटकी मिली 'श्रवंती'

प्यार के रास्ते ने कांटा बन रहा था बच्चा, प्रेमी के साथ मिलकर माँ ने कर दी हत्या

 

Most Popular

- Sponsored Advert -