सबरीमाला विवाद : अमित शाह बोले- अदालत वही फैसले सुनाए जिनका पालन किया जा सके

तिरुवनंतपुरम. देश में पिछले कुछ दिनों से केरल के मशहूर सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर बहुत विवाद चल रहा है. इस मामले में करम में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन भी हो चुके है और इस मुद्दे को लेकर देश भर में राजनीति भी हो रही है. लेकिन अब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने तो इस मामले में एक बड़ा बयान देते हुए देश की सर्वोच अदालत को भी नसीहत तक दे डाली है.

सबरीमाला विवाद: पीएम मोदी की रैली रोकने की धमकी देने पर, तृप्ति देसाई हिरासत में

दरअसल बीजेपी के  राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल केरल के कन्नूर में भाजपा द्वारा आयोजित एक रैली को सम्बोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने सबरीमाला मंदिर को लेकर भी कई तरह की बातें कही है. ईद दौरान अपने एक बयान में उन्होंने  सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि कोर्ट को ऐसे ही फैसले सुनाने चाहिए जिनका पालन किया जा सके. और ऐसे आदेश तो बिलकुल भी नहीं देना चाहिए जिनसे नागरिकों की आस्था का अपमान हो.

सबरीमाला विवाद: मुख्य पुजारी ने दी मंदिर को ताला लगाने की धमकी

 

इस दौरान अमित शाह ने राज्य सरकार पर भी इस मामले को लेकर निशाना साधते हुए कहा है कि केरल की वाम सरकार राज्य में मंदिरों की परंपरा को खत्म करना चाहती है और लगातार इसी दिशा में प्रयास भी कर रही है. इसके साथ ही शाह ने यह भी कहा कि अदालत के फैसले के नाम पर परंपराओं को तोड़ने वाले लोगों को यह जानना बेहद जरुरी है कि देशभर में ऐसे कई मंदिर है जो अलग अलग परंपराओं के हिसाब से चलते है और किसी को भी इन परम्पराओं की राह में तंग नहीं अडानी चाहिए 


ख़बरें और भी 

सबरीमाला विवाद: चार महिलाओं ने केरल हाई कोर्ट में दायर की याचिका, मांगी सुरक्षा

सबरीमाला मामला : पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई आज, कोर्ट सुना सकती है कोई बड़ा फैसला

सबरीमाला मंदिर विवाद फिर पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, पुनर्विचार याचिका पर होगा फैसला

सबरीमाला मंदिर में विरोध के चलते चार महिलाओं को मंदिर में प्रवेश करने से रोका

सबरीमाला पर रजनीकांत का बड़ा बयान, कहा मंदिर की परम्पराओं से छेड़छाड़ न करें

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -