जानें आपकी सेहत पर क्या असर करता है रेड मीट

जानें आपकी सेहत पर क्या असर करता है रेड मीट

नॉन वेज खाने के बहुत से लोग शौक़ीन होते हैं. अक्सर वो नॉन वेज खाते हैं और उनमे से खास होता है रेड मीट जिसे लोग शौक से खाते हैं. लेकिन रेड मीट आपके लिए सही है या नहीं इसके बारे में आपको भी नहीं पता होगा. आज हम इसी के नुकसान और फायदे बताने जा रहे हैं. रेड मीट में मटन, पोर्क, बीफ और भेड़ शामिल है. इनके मांस में भारी मात्रा में वसा और कोलेस्‍ट्रॉल होता है. इनमें सोडियम की मात्रा ज्‍यादा होती है जिससे आपका ब्‍लड प्रेशर बढ़ सकता है. जानिए रेड मीट के बारे में. 

विटामिन डी और आयरन का भंडार
एक्सपर्ट्स रेड मीट को हटाने की सलाह नहीं देती हैं. उनके अनुसार, रेड मीट अनाज, गेंहू और सब्जियों के साथ-साथ संतुलित आहार का एक हिस्सा है. इसमें आयरन, जिंक, विटामिन डी और ओमेगा -3 फैटी एसिड होते हैं, जो आपके लिए बेहद ज़रूरी हैं. 

रोजाना खाने से बचें
इसका सेवन कितनी मात्रा में करना चाहिए. इसका सेवन रोजाना करने से बचना चाहिए. वास्‍तविक रूप से आप हफ्ते में इसे दो बार खा सकते हैं.

वसा और तेल स्वास्थ्य के लिए खतरनाक
हालांकि मुंबई की आहार विशेषज्ञ दीपशिखा अग्रवाल का कहना है कि आपको पूरी तरह से रेड मीट से दूर रहना चाहिए. वो कहती हैं कि इसमें वसा  अधिक मात्रा होती है और इसे पकाने के लिए ज्‍यादा तेल की भी ज़रूरत पड़ती है. तेल स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक माना जाता है. और इसमें मौजूद टॉक्सिन हेल्‍दी के लिए खतरनाक होता  हैं. पढ़ें- चिकन टिक्‍का मसाला – हेल्दी रेसिपी

ऐसे कम करें रेड मीट का वसा 
अगर आप मीट छोड़ने की कोशिश कर रहे हैं, तो आप इसकी जगह ऐसे पशुओं का मांस खा सकते हैं जिन पशुओं को घास खिलाया जाता है. ऐसे पशुओंं के मांस में फैट की मात्रा भी कम होती है और ओमेगा 3 फैटी एसिड ज्‍यादा होते हैं. इसके अलावा आप मांस में वसा कम करने के लिए मांस में से चर्बी वाले हिस्‍से को हटा सकते हैं. इसके हानिकारक प्रभावों से बचने के लिए रेड मीट के साथ सलाद का सेवन करें.

मुंबई में भारी बारिश और हाई टाइड का दोहरा अलर्ट, समुद्र में उठेंगी 5 मीटर ऊंची लहरें

इन 5 फल-सब्जियों के छिलके आपको दिलांएगे डिप्रेशन और दिल की बीमारियों से निजात

शरीर के लिए लाभकारी है सौंफ, जानें 5 फायदे