लॉकडाउन: दिल्ली में फंसे राजस्थान के मजदूर, पैदल ही अपने घर पहुँचने के लिए मजबूर

Mar 24 2020 03:22 PM
लॉकडाउन: दिल्ली में फंसे राजस्थान के मजदूर, पैदल ही अपने घर पहुँचने के लिए मजबूर

जयपुर: कोरोना वायरस के चलते केंद्र और दिल्ली सरकार द्वारा 'लॉकडाउन' का ऐलान किए जाने के बाद देश की राजधानी में ट्रेन, मेट्रो समेत सभी परिवहन सेवाएं बंद हो गई हैं, जिस कारण दिल्ली में काम करने आए राजस्थान के मजदूर लौटकर अपने गांव जाने के लिए मीलों पैदल चलने को विवश हो गए हैं.  इस समय दिल्ली में काम करने गए दिहाड़ी मजदूर सबसे अधिक चिंतित हैं.

लॉक डाउन के चलते उनके पास कोई काम नहीं है और 31 मार्च तक ट्रेनें भी बंद कर दी गई हैं, इसलिए वे अपने गांव लौटने को विवश हैं. हाथ में झोला लिए और सिर पर समान की गठरी लेकर मजदूर अपने घरों की तरफ कूच करने लगे हैं. बड़ी तादाद में मजदूर वाहनों के इंतजार में सराय काले खां बस स्टैंड पर खड़े नज़र आ रहे हैं. दिल्ली में मजदूरी करने वाले विक्रम तंवर ने अपना दर्द बताते हुए कहा कि, 'हमें राजस्थान जाना है, हजरत निजामुद्दीन स्टेशन से पैदल चलकर आ रहे हैं, न कोई ट्रेन चल रही है और न सराय काले खां बस स्टेशन से कोई बस जा रही है, अभी हम बदरपुर सीएम तक पैदल जा रहे हैं। यदि वहां भी कोई वाहन नहीं मिला तो फिर हम राजस्थान तक पैदल ही जाएंगे'.

मीडिया द्वारा यह पूछे जाने पर कि जब सरकार कह रही है कि जो जहां हैं, वहीं रहें तो आप क्यों जा रहे हैं? इसके जवाब में तंवर ने कहा कि, 'हमारा घर तो राजस्थान में है, यहां रहेंगे तो हम खाएंगे क्या? हमारी तो मजदूरी भी छूट गई है, भूखे थोड़े ही मरेंगे यहां?'.

कोरोना का असर, ITR और GST दाखिल करने की अंतिम तारीख बढ़ी

इस मांग को लेकर सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा खत

टला राज्यसभा चुनाव, इलेक्शन कमीशन ने बोली ये बात