इस मांग को लेकर सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा खत

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सुप्रीमों सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर कोरोना वायरस के संकट के मद्देनजर निर्माण क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों के आपात कदम उठाने का आग्रह किया है. उन्होंने कहा कि इन लोगों को कुछ निश्चित राशि की मदद की जानी चाहिए.

कोरोना के खिलाफ जंग, गौतम गंभीर ने किया 50 लाख देने का ऐलान

पीएम मोदी को लिखे पत्र में सोनिया ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि निर्माण क्षेत्र के कामगारों के कल्याण के लिए बने राज्य बोर्डों ने उपकर के माध्यम से 31 मार्च, 2019 तक 49,688 करोड़ रुपये की राशि का संग्रह किया था और इसमें से सिर्फ 19,380 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं.

जल्द बाजार में आ जाएगा कोरोनावायरस का टीका, US में युद्धस्तर पर चल रहा काम

इस मामले को लेकर उन्होंने आगे कहा​ कि, 'हम एक महामारी का सामना कर रहे हैं. ऐसे में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कड़े कदमों की जरूरत है. इन कदमों से आर्थिक गतिविधियां व्यापक रूप से बाधित हुई हैं जिसका असंगठित क्षेत्र पर काफी बुरा असर पड़ा है. लाखों प्रवासी कामगार बड़े शहरों से अपने कस्बों और गांवों की तरफ कूच कर गए हैं. साथ ही, कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'अब निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले 4.4 करोड़ से अधिक कामगारों का भविष्य अधर में पड़ गया है. शहरों के बंद करने के कड़े कदमों से बहुत सारे कामगारों के सामने जीविका का संकट भी पैदा हो गया है.

कोरोना पर बोले राहुल गाँधी, कहा- हमारे पास वक़्त था, कर सकते थे बेहतर तैयारी

इंडियन आर्मी को मिले दो कोरोना संक्रमित नागरिक

सीएम शिवराज ने विधानसभा में साबित किया बहुमत, कोई कांग्रेस विधायक नहीं हुआ मौजूद

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -