कन्हैया लाल के बेटों को सरकारी नौकरी देगी राजस्थान सरकार

जयपुर: राजस्थान सरकार ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कन्हैयालाल के बेटों को सरकारी नौकरी देने का  फैसला किया, जिनका 28 जून को तालिबानी तरह के हमले में उदयपुर में सिर कलम कर दिया गया था।

राजस्थान के मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत  ने अपने ट्वीट में कहा, 'एक संवेदनशील निर्णय लेते हुए मंत्रिमंडल ने श्री कन्हैयालाल तेली के पुत्र यश तेली और तरुण तेली को सरकारी सेवा में नियुक्त करने का फैसला किया है।

गहलोत ने आगे कहा, 'मृतक के परिवार में आजीविका का कोई दूसरा साधन नहीं है। आश्रितों को नियुक्ति दी जाए तो उनका जीवन सुचारू रूप से चलेगा। परिवार को आर्थिक और मानसिक मदद मिलेगी।

कन्हैया लाल तेली की उनकी दुकान पर हत्या कर दी गई थी क्योंकि उन्होंने निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर टिप्पणी साझा की थी। राजस्थान सरकार ने पहले परिवार को मुआवजे के रूप में 50 लाख रुपये का चेक दिया था और अब उनके दो बेटों के बेहतर भविष्य के लिए नौकरी की घोषणा की थी।

महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि नियुक्ति के लिए नियमों में छूट दी गई है. यह नियुक्ति राजस्थान अधीनस्थ कार्यालय लिपिक सेवा (संशोधन) नियम, 2008 और 2009 के नियम 6 सी के तहत प्रदान की जाएगी।

राज्य मंत्रिमंडल ने राज्य कर्मचारियों की वेतन विसंगतियों को भी दूर किया, समाचार वेबसाइटों को सरकारी विज्ञापन जारी करने के लिए एक नीति को मंजूरी दी, और नए राज्य कॉलेजों के बेहतर प्रबंधन के लिए राजस्थान कॉलेज एजुकेशन सोसाइटी का गठन किया।

तकली मध्यम सिंचाई परियोजना के जलमग्न क्षेत्रों में गांवों में रहने वाले लोगों के पुनर्वास के लिए 21 करोड़ रुपये की एकबारगी विशेष अनुग्रह राशि अनुमोदित की गई है।

कैबिनेट ने समाचार वेबसाइटों पर विज्ञापन जारी करने के लिए एक नई नीतिगत दिशानिर्देश जारी करने के लिए सूचना और जनसंपर्क विभाग के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी। 

ट्रेन से यात्रा करने वालों के लिए बड़ी खबर, रेल मंत्री ने किए ये ऐलान

RCP-नकवी के इस्तीफे के बाद स्मृति ईरानी और सिंधिया को मिले इन मंत्रालयों के प्रभार

Ind Vs Pak: भारत और पाकिस्तान में जल्द होगी टक्कर, जानिए कहाँ खेला जाएगा महामुकाबला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -