लॉकडाउन में थमी जिंदगी को गति देने के लिए केंद्र मंत्री पीयूष गोयल का बड़ा ऐलान

लॉकडाउन ने अ​र्थव्यवस्था के अलावा जिंदगी को भी थमा दिया है. जिसे रफ्तार देने के लिए सरकार ने कमर कस ली है. प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल, राजधानी के रूट पर 15 जोड़ी एसी स्पेशल ट्रेनों के बाद अब रेल मंत्रालय ने 200 नॉन एसी स्पेशल ट्रेनें चलाने का एलान किया है. इनका संचालन पहली जून से रोजाना किया जाएगा. इन ट्रेनों के लिए टिकटों की बुकिंग ऑनलाइन होगी. स्टेशन काउंटर नहीं खोले जाएंगे. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. माना जा रहा है कि इन ट्रेनों का रूट तय करते समय यह ध्यान में रखा जाएगा कि कहां प्रवासियों की संख्या ज्यादा है.

इंदौर: मोहम्मद यूनुस ने तोड़ा लॉकडाउन, गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस पर लोगों ने बरसाए पत्थर

अपने बयान में गोयल ने अगले कुछ दिन के भीतर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या भी दोगुनी कर 400 रोजाना करने की बात कही है. रेल मंत्रालय ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को लेकर हो रही राजनीति पर भी रोक लगाने की तैयारी कर ली है. मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि अब श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन के लिए उस राज्य की सहमति जरूरी नहीं होगी, जहां श्रमिकों को पहुंचाना है. श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला गृह मंत्रालय के साथ मिलकर रेल मंत्रालय करेगा. राज्यों को इस संबंध में व्यवस्था की जिम्मेदारी दी गई है.

कांग्रेस ने दी बसों की गलत जानकारी, धोखाधड़ी के आरोप में प्रदेश पार्टी अध्यक्ष अजय लल्लू गिरफ्तार

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मजदूरों की सुरक्षित और सुचारू घर वापसी सुनिश्चित करने के लिए गृह मंत्रालय ने नया तौर-तरीका (एसओपी) जारी किया है. इसके अनुसार रेल मंत्रालय अब राज्यों के साथ-साथ गृह मंत्रालय से समन्वय कर ट्रेनों का परिचालन करेगा. जहां से मजदूरों को चलना है और जिस राज्य में पहुंचना है, वे राज्य नोडल अधिकारियों को नियुक्त करेंगे, ताकि ट्रेनों के परिचालन में कोई दिक्कत नहीं आए.

मजदूरों के साथ फिर हुआ हादसा, कर्नाटक में पटरी से उतरी श्रमिक स्पेशल ट्रेन

यूपी की 'बस पॉलिटिक्स' में कूदे अखिलेश, कहा- पहले अपना फिटनेस सर्टिफिकेट दे भाजपा सरकार

महाराष्ट्र में कहर बनकर टूटा कोरोना, पिछले 24 घंटों में 76 लोगों की मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -