यूपी की 'बस पॉलिटिक्स' में कूदे अखिलेश, कहा- पहले अपना फिटनेस सर्टिफिकेट दे भाजपा सरकार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में प्रवासी मजदूरों के लिए बसें चलाने को लेकर सियासत गर्म हो गई है. इस मुद्दे पर लेकर कांग्रेस और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार आमने-सामने आ गई है. इस बीच, अब समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रिय अध्यक्ष और राज्य के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोला है.

अखिलेश यादव ने कहा है कि योगी सरकार बसों के फिटनेस सर्टिफिकेट के बहाने प्रवासी श्रमिकों को सड़कों पर उत्पीड़ित कर रही है.
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'उप्र की सरकार बसों के फ़िटनेस सर्टिफिकेट के बहाने प्रवासी मज़दूरों को सड़कों पर उत्पीड़ित कर रही है. भाजपा सरकार ख़ुद अपने फिटनेस का सर्टिफिकेट दे कि इस बदहाली में क्या वो देश-प्रदेश चलाने के लायक है. अब कहाँ हैं पूरी दुनिया में भारत की उज्ज्वल होती छवि का ढिंढोरा पीटनेवाले.'

आपको बता दें कि प्रवासी श्रमिकों के लिए बसों को लेकर कांग्रेस और योगी सरकार में तनातनी बढ़ गई है. यूपी में बसों के प्रवेश को लेकर आगरा में राजस्थान की बॉर्डर पर कांग्रेस के कार्यकर्ता मंगलवार शाम धरने पर बैठ गए हैं. वे यूपी में बसों के प्रवेश की अनुमति मांग रहे थे. वहीं, यूपी पुलिस कार्यकर्ताओं से बसों के परमिट और कागजात मांग रही थी.

कांग्रेस ने दी बसों की गलत जानकारी, धोखाधड़ी के आरोप में प्रदेश पार्टी अध्यक्ष अजय लल्लू गिरफ्तार

ईस्ट अरोरा में पटरी से उतरी ट्रेन, दुर्घटना का कारण जानने में जुटी टीम

योगी सरकार को प्रियंका ने फिर लिखी चिट्ठी, कहा- आगरा में नहीं दे रहे बसों को एंट्री

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -