'मोदी सरकार की ज़ीरो वैक्सीन नीति भारत माता के सीने में ख़ंजर..', केंद्र पर फिर बरसे राहुल गांधी

नई दिल्ली: देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की रफ्तार अब धीमी पड़ने लगी है. हालांकि, संक्रमण से होने वाली मौतों का आंकड़ा अब भी डरा रहा है. इस बीच, पूरे मुद्दे को लेकर विपक्षी पार्टियों की ओर से लगातार कोरोना प्रबंधन और टीकाकरण नीति को लेकर केन्द्र सरकार पर हमले किए जा रहे हैं. कांग्रेस नेता और केरल की वायनाड लोकसभा सीट से सांसद राहुल गांधी भी वैक्सीनेशन की नीति को लेकर केन्द्र पर हमलावर रुख अख्तियार किए हुए हैं.

 

राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट करते हुए एक बार फिर से केन्द्र सरकार पर निशाना साधा, राहुल ने लिखा कि, "मोदी सरकार की ज़ीरो वैक्सीन नीति भारत माता के सीने में ख़ंजर का काम कर रही है. दुखद सच." इससे पहले, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को आरोप लगाया था कि पीएम मोदी की 'झूठी छवि' के लिए उनकी सरकार के किसी विभाग के मंत्री किसी भी विषय पर बोलने को विवश हैं. कोरोना संकट को लेकर राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता में दावा किया था कि टीकाकरण की जो गति अभी चल रही है वह अगर इसी प्रकार चलती रही तो उसके पूरा होने में तीन साल लग जाएंगे.

इसके साथ ही राहुल  ने ये भी कहा था कि, "सरकार और पीएम को आज तक कोरोना समझ ही नहीं आया है. कोरोना महज एक बीमारी नहीं है, कोरोना एक बदलती हुई बीमारी है. आप इसको जितना वक़्त और जगह देंगे ये उतना घातक बनता जाएगा. ये दूसरी लहर प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है, पीएम ने जो नौटंकी की, अपनी जिम्मेदारी पूरी नहीं की उसका कारण दूसरी लहर है. अगर टीकाकरण इसी तरह से चलता गया तो मई 2024 में भारत की पूरी जनता का वैक्सीनेशन होगा."

अशोक गहलोत ने दोहराई अपनी मांग, कहा- पूरे देशवासियों को मुफ्त लगना चाहिए कोरोना वैक्सीन

सेंट्रल विस्टा को 'मोदी महल' कहने वाले बताएं, 13000 करोड़ के आंकड़े कहाँ से आए - हरदीप पूरी

सिंगल चाइल्ड पॉलिसी ख़त्म करने जा रहा चीन, देगा 3 बच्चे पैदा करने की अनुमति

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -