निहंग नेता के साथ कृषि मंत्री तोमर की तस्वीर वायरल, सिंघु बॉर्डर हत्याकांड में आया नया मोड़

अमृतसर: पंजाब के डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की एक निहंग नेता के साथ कथित तस्वीर का हवाला देते हुए मंगलवार को कहा कि सिंघू सीमा पर एक दलित मजदूर की निर्मम हत्या किसानों के विरोध प्रदर्शन को बदनाम करने की संभावित साजिश है. कांग्रेस की पंजाब इकाई के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी सोशल मीडिया पर सामने आई तस्वीर को लेकर आरोप लगाया कि दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर के पास किसानों के विरोध प्रदर्शन स्थल पर पिछले हफ्ते हुई हत्या में केंद्रीय एजेंसियों की संलिप्तता हो सकती है.

बता दें कि एक सामूहिक तस्वीर में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और एक व्यक्ति निहंग सिखों की नीली पोशाक पहने नज़र आ रहा है. बता दें कि केंद्रीय मंत्री ने कृषि कानूनों को लेकर गतिरोध दूर करने के उद्देश्य से बातचीत करने के लिए प्रदर्शनकारी किसान नेताओं से पहले मुलाकात की थी. रंधावा ने किसी का नाम लिए बगैर कहा कि यही निहंग नेता हत्या के मुख्य आरोपी का ‘‘बचाव कर रहा’’ था. निहंग समूह ने पीड़ित पर सिखों के पवित्र ग्रंथ की बेअदबी करने का इल्जाम लगाते हुए उसकी हत्या की थी.

रंधावा ने एक बयान में कहा कि, 'एक निहंग नेता के भारत सरकार, विशेष रूप से कृषि मंत्री तोमर के साथ संपर्क में होने की बात हाल में सामने आने के बाद कत्ल के इस मामले में पूरी तरह एक नया मोड़ आ गया है.' उन्होंने कहा कि, यह किसान आंदोलन को बदनाम करने की गहरी साजिश मालूम होती है. रंधावा ने आगे कहा कि तरन तारन जिले के चीमा कलां गांव का निवासी दलित लखबीर सिंह बेहद गरीब था. उन्होंने कहा कि, 'हमें यह पता लगाने की जरुरत है कि कौन उसे लालच देकर सिंघू बॉर्डर लेकर आया और किसने उसकी यात्रा का खर्च उठाया, क्योंकि उसके पास खाने के लिए भी पैसे नहीं थे.

'अबकी बार- भाजपा साफ़..', यूपी चुनाव के लिए अखिलेश और राजभर ने मिलाया हाथ

यूपी फतह की तैयारी में भाजपा, आज काशी में पार्टी नेताओं की बड़ी बैठक

आगरा जा रहीं प्रियंका गांधी को यूपी पुलिस ने रोका, पुलिस हिरासत में युवक की मौत का मामला

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -