रामायण री-टेलीकास्ट करने पर प्रसार भारती के CEO के साथ हुआ था ऐसा

रामायण का री-टेलीकास्ट खत्म हो चुका है. ऐसा बताया जा रहा है कि इसे करीब 250 मिलियन व्यूज मिला है. परन्तु इसके लिए प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर को अपने ऊपर मजाक सुनना पड़ा था. फिलहाल उनके अपने व्हाट्सग्रुप में रामायण के रीटेलीकास्ट करने के आइडिया का मजाक उड़ाए जाने के बाद भी वो अपने विचार से डिगे नहीं. वहीं उन्होंने यह प्रस्ताव सरकार के सामने रखा. वहीं नतीजतन रामायण ऐसा शो बनकर उभरा कि पिछले पांच सालों में यानी साल 2015 से लेकर अब तक जनरल एंटरटेनमेंट कैटगरी के मामले में यह बेस्ट सीरियल बना. ‌इसके साथ ही यही वजह थी कि प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा था, वहीं 'मुझे यह बताते हुए काफी मजा आ रहा है कि दूरदर्शन पर प्रसारित हो रहा शो 'रामायण' 2015 से अब तक का सबसे अधिक टीआरपी जनरेट करने वाला हिंदी जनरल एंटरटेनमेंट शो बन गया है.' 

वहीं उन्होंने यह बात बार्क के हवाले से बताई थी.रामायण के आखिरी समय के प्रसारण के वक्त की बार्क रिपोर्ट (ब्रॉडकास्ट ऑडिएंस रिसर्च काउंसिल ने 25 अप्रैल से 1 मई तक) में बताया गया कि शहरी इलाकों में डीडी नेशनल के शो 'उत्तर रामायण' ने 28383 इंप्रेशंस के साथ पहला स्थान पर रहा. वहीं दूसरे स्थान पर डीडी भारती का शो 'महाभारत', स्टार प्लस पर प्रसारित 'महाभारत' ने भी 5601 इंप्रेशंस के साथ इस लिस्ट में तीसरी नंबर पर है. वहीं, दंगल टीवी का शो 'महिमा शनिदेव की' चौथे और 'बाबा ऐसो वर ढूंढो' पांचवें नंबर पर रहा.ग्रामीण क्षेत्रों के दर्शकों की बात करें तो यहां भी डीडी नेशनल के शो 'उत्तर रामायण' ने 24080 इंप्रेशंस के साथ टॉप पोजिशन हासिल की है. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की 'बाबा ऐसो वर ढूंढो' दूसरे, 'महिमा शनिदेव की' तीसरे और 'महाभारत' चौथे स्थान पर रहा है. शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों की संयुक्त लिस्ट देखें तो उत्तर रामायण पहले, डीडी बारती पर आने वाली महाभारत दूसरे, 'बाबा ऐसो वर ढूंढो तीसरे, महिमा शनिदेव की चौथे और दंगल पर आने वाली रामायण पांचवे स्थान पर रही.अआप्की जानकारी के लिए बता दें उस जमाने में भी निर्देशक रामानंद सागर के सीरियल 'रामायण' ने टीवी पर एक अनोखा इतिहास सा रचा था. इस सीरियल को देखने के लिए लोगों ने घरों से बाहर निकलना बंद कर दिया था. वहीं 1988 में प्रसारित हुए इस सीरियल में नजर आया हर किरदार लोगों के दिलों पर छा गया था. रामायण की वजह से उस समय सड़कें खाली हो जाती थी. लोग टीवी पर बैठकर बस श्री राम के जीवन की इस कहानी को पूरे भाव से देखते थे.

वेब सीरीज 'कहने को हमसफर हैं' के सीजन 3 का ट्रेलर आउट

ये है मोहब्बतें फेम करिश्मा शर्मा नई दिखाए अपने आर्मपिट हेयर्स

जटायु से मिले राम, लक्ष्मण ने काट दी शूर्पणखा की नाक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -