इस देश में जानबूझ कर वायरस फैलाने वाले को माना जाएगा आतंकी

इस देश में जानबूझ कर वायरस फैलाने वाले को माना जाएगा आतंकी

दुनिया के ताकतवर देशों में शामिल अमेरिका में कोरोना वायरस से निपटने के लिए बनाए गए नियमों की अनदेखी करने वालों पर अब न्‍याय विभाग सख्‍त हो गया है. नए आदेश के तहत कोरोना वायरस का खतरा दूसरों तक पहुंचाने वालों को अब यहां पर आतंकी समझा जाएगा. सीएनएन के मुताबिक डिप्‍टी एटॉर्नी जनरल जेफरी रोसेन ने कहा है कि जानबूझ कर इस वायरस को फैलाने वालों पर आतंकी मानकर कार्रवाई की जाएगी. माना जाएगा कि उसने ऐसा दूसरों को संक्रमित करने के लिए जान बूझकर किया है. नए नियम के तहत दोष सिद्ध होने पर उम्रकैद तक का प्रावधान है.

कोरोना से जंग के लिए तैयार हो रहा ब्रिटेन, कर रहा वेंटिलेटर्स का पर्याप्‍त इंतजाम

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि एक लिखित आदेश में ऐसा करने वालों को बायलॉजिकल एजेंट माना जाएगा. न्‍याय विभाग के तहत आने वाली सभी एजेंसियों को आदेश जारी करते हुए कहा है कि ऐसे किसी भी व्‍यक्ति को देश में आतंकवाद फैलाने के तहत गिरफ्तार किया जाएगा. आदेश में उन्‍होंने ये भी कहा है कि अमेरिका के नागरिक अब ऐसे लापरवाह लोगों को जो इस वायरस को हथियार बना रहे हैं और दूसरों को संकट में डाल रहे हैं, किसी भी सूरत से बर्दाश्‍त नहीं करेंगे.

बगदाद में फिर हुआ रॉकेट हमला, इराकी सेना ने किया दावा

अगर आपको नही पता तो बता दे कि अमेरिका में कोरोना वायरस की चपेट में अब तक 69 हजार से अधिक लोग आ चुके हैं. वहीं एक हजार लोगों की मौत इसकी चपेट में आने से अब तक हो चुकी है. सरकार इसको लेकर बेहद गंभीर है, लेकिन इससे बेपरवाह लोग और वो लोग जो जान बूझकर दूसरों को इसका शिकार बना रहे हैं, उसकी मुश्किल को और बढ़ा रहे हैं. आपको बता दें कि अमेरिका में कुछ जगहों पर आंशिक लॉकडाउन है. वहीं सरकार लगातार सोशल डिस्‍टेंसिंग का नियम मानने की जानकारी भी दे रही है. इसके बाद भी लोग इसको नहीं मान रहे हैं.

दुनिया के 10 देशों में चल रहा 'कोरोना' जैसा वायरस फ़ैलाने वाला 'मीट मार्केट'

WHO पर भड़के डोनाल्ड ट्रम्प, कहा- 'कोरोना वायरस के मुद्दे पर चीन का बहुत ज्‍यादा पक्ष लिया '

कोरोना संकट के बीच असांजे की जमानत हुई रद्द