कोरोना वायरस : पटना हाईकोर्ट का बड़ा निर्णय, अहम मामलों पर होगी सुनवाई

कोरोना वायरस : पटना हाईकोर्ट का बड़ा निर्णय, अहम मामलों पर होगी सुनवाई

मंगलवार को कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से कोर्ट के कामकाज पर प्रभाव पड़ा है. पटना हाईकोर्ट में वकीलों व मुवक्किलों समेत अन्य कर्मियों की कमी दिखी. मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल व न्यायमूर्ति एस कुमार की खंडपीठ समेत अन्य न्यायाधीशों ने अपने-अपने न्याय कक्ष में मुकदमों की सुनवाई की. 

बंदरों में विकसित हुई कोरोना से लड़ने की क्षमता, अब इंसानों पर होगा प्रयोग

वायरस के प्रभाव को देखते हुए पटना हाईकोर्ट के अधिवक्ता संघों के आग्रह पर कोर्ट प्रशासन ने सीमित संख्या में व आवश्यक मुकदमों की सुनवाई करने का निर्णय लिया है. फिलहाल नियमित जमानत व अत्यावश्यक मुकदमों की सुनवाई ही हो पा रही है. 

एमपी : मंत्री पीसी शर्मा ने भाजपा पर किया हमला, कहा-बंदूक की नोंक पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करवाई...

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हाईकोर्ट परिसर में कोरोना वायरस के मद्देनजर जो जागरूकता कैंप मंगलवार को लगने वाला था, उसे उसे हाईकोर्ट प्रशासन ने रद्द कर दिया है. हाईकोर्ट स्थित सरकारी अस्पताल व कोरोना मामले में मेडिकल परामर्श देने के लिए परिसर के गेट नंबर 3 व 4 के नजदीक बनाये गए कैम्प में मेडिकल स्टाफ तैनात कर दिए गए हैं. अस्पताल में भी डॉक्टरों समेत अन्य कर्मी हर परिस्थिति से लड़ने को तैयार हैं. सफाईकर्मी भी हाईकोर्ट परिषर को साफ सुथरा करने में निरंतर लगे हुए हैं.

राज्यसभा चुनाव : क्या बिहार में कांग्रेस की सभी उम्मीदों पर फिरने वाला है पानी ?

बिहार : क्या महागठबंधन का आपसी विश्वास हो रहा समाप्त ?

पाकिस्तान में 186 लोग कोरोना से संक्रमित, सिंध सबसे अधिक प्रभावित