ओमीक्रोन के बढ़ते कहर के बीच बढ़ी सख्ती, जारी हुई नयी गाइडलाइंस

मुंबई: भारत (Omicron variant found in India) के लिए बीते रविवार का दिन कुछ ख़ास अच्छा नहीं रहा, बल्कि इस दौरान कोरोना के ओमीक्रॉन वेरिएंट के 24 घंटे के भीतर 18 नए केस सामने आए। हाल ही में मिली जानकारी के तहत अब तक देश के 5 राज्यों- राजस्थान, महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात और कर्नाटक में इस नए वेरिएंट के कुल 22 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इस लिस्ट में सबसे ज्यादा केस 9 राजस्थान में और और 9 महाराष्ट्र में सामने आए हैं। आपको बता दें कि राजस्थान में एक ही परिवार के 4 लोग इस नए वेरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं। हाल ही में मिली जानकारी के तहत इस परिवार के 4 सदस्य हाल ही में अफ्रीका से लौटे थे और उन्हीं के संपर्क में आए 5 अन्य लोग संक्रमित पाए गए हैं।

बताया जा रहा है जीनोम सीक्वेंसिंग के बाद बीते रविवार को इन 9 लोगों में ओमीक्रॉन वेरिएंट की पुष्टि हो गई है। वहीं इससे पहले पुणे में एक और इससे सटे जिले पिंपरी चिंचवाड़ में 7 लोगों में नया वेरिएंट मिला था। वहीं अगर राजस्थान के बारे में बात करें तो यहाँ संक्रमित मिले परिवार के 4 सदस्य 25 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से दुबई और मुंबई होते हुए जयपुर पहुंचे थे। यहां इनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी और इनके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे।

बताया जा रहा है यह परिवार राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (RUHS) में भर्ती है। इनमें माता-पिता के साथ दो बच्चे शामिल है। आपको हम यह भी बता दें कि महाराष्ट्र में रविवार को ही ओमीक्रॉन के 8 नए मामले मिलने के बाद से प्रशासन हाई अलर्ट पर है। यहाँ पिंपरी चिंचवाड़ जिले में कोरोना पॉजिटिव पाए गए 7 लोगों के सैंपल्स जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे और इनमे कोरोना के नए वेरिएंट की पुष्टि हुई है। अब इन सभी को क्वारंटीन कर दिया गया है।

जारी हुईं नई गाइडलाइंस- अब इंटरनेशनल पैसेंजर्स के लिए नई गाइडलाइन लागू कर दी गई है। जी दरअसल केंद्र ने 28 से 30 नवंबर के बीच ये गाइडलाइंस जारी की थीं। इसमें बताया गया है कि एट रिस्क देशों से आने वाले पैसेंजर्स को RT-PCR टेस्ट कराना जरूरी होगा। इसके अलावा पैसेंजर्स को रिजल्ट आने तक एयरपोर्ट पर ही इंतजार करना होगा। वहीं सभी एयरपोर्ट्स पर अतिरिक्त RT-PCR फैसिलिटी की व्यवस्था की जाएगी। इसी के साथ ‘एट रिस्क’ वाले देशों को छोड़कर बाकी देशों के यात्रियों को एयरपोर्ट से बाहर जाने की अनुमति होगी। हालाँकि उन्हें 14 दिन के लिए सेल्फ मॉनिटरिंग करनी होगी। आपको बता दें कि ओमीक्रॉन के खतरे की श्रेणी से जिन देशों को बाहर रखा गया है, वहां से आने वाले यात्रियों में 5% की टेस्टिंग जरूर की जाएगी। इस तरह से अब एयर सुविधा पोर्टल पर मौजूद सेल्फ डेक्लेरेशन फॉर्म में सभी इंटरनेशनल पैसेंजर्स को फ्लाइट बोर्ड करने से पहले अपनी 14 दिन की ट्रैवल हिस्ट्री बतानी होगी।

भारत में तेजी से बढ़ रहे ओमिक्रोन के मरीज, हो सकता है घातक

ओमिक्रॉन का पहला केस मिलते ही दिल्ली में अलर्ट, लगेंगे ये प्रतिबंध

Omicron: एक अच्छा संकेत, एक्सपर्ट बोले- 'हाइब्रिड इम्युनिटी काफी असरदार'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -