ओमिक्रॉन का पहला केस मिलते ही दिल्ली में अलर्ट, लगेंगे ये प्रतिबंध

नई दिल्ली: दिल्ली में ओमिक्रॉन का पहला मरीज प्राप्त होने के पश्चात् दिल्ली सरकार ने अब कोरोना के इस नए वैरिएंट से निपटने की तैयारियां आरम्भ कर दी है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार से मांग की है कि जिन-जिन देशों में ओमिक्रॉन वैरिएंट के रोगी मिले हैं वहां से दिल्ली की फ्लाइट पर तत्काल पाबंदी लगाई जाए। इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में अब एक बार फिर से कठोरता बढ़ाई जाएगी तथा बगैर मास्क के कहीं भी प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

बता दें कि दिल्ली में आज कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला रोगी मिला है। ये व्यक्ति अफ्रीकी देश तंजानिया से भारत लौटा था। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली हवाईअड्डे पर 'एट रिस्क' देशों से आने वाले लोगों का RTPCR टेस्ट किया जा रहा है। अबतक 17 कोरोना संक्रमित मरीज़ LNJP हॉस्पिटल में एडमिट किये गए हैं। साथ ही, इन रोगियों के 6 कॉन्टेक्ट जो फैमिली मेंबर हैं उन्हें भी LNJP हॉस्पिटल में एडमिट किया गया है। 17 में से 12 की जीनोम सिक्वेंसिंग कराई गई थी इनमें से एक आरंभिक रिपोर्ट में ओमिक्रॉन का मरीज़ पाया गया है। 

सोमवार को आएगी फाइनल रिपोर्ट:- स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 11 में ओमिक्रॉन नही पाया गया है। ये शख्स तंजानिया से आया था। स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक, लैब से फाइनल रिपोर्ट सोमवार को जारी की जाएगी। ये दिल्ली में पहला और देश का 5वा ओमिक्रोन का केस है। उन्होंने कहा कि फाइनल रिपोर्ट आने के पश्चात् दोबारा टेस्ट किया जाएगा। 

इलाज का प्रोटोकॉल कोरोना जैसा ही:- स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस रोगी को आइसोलेट कर दिया गया है। ओमिक्रॉन उपचार का नियमों कोरोना जैसा ही है। एलएनजेपी में अलग से ओमिक्रोन रोगियों के लिए वार्ड बनाया गया है। साथ ही LNJP हॉस्पिटल में ओमिक्रॉन संक्रमित रोगियों के उपचार के लिए अलग से टीम तैनात है। सत्येंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली में जीनोम सिक्वेंसिंग की 2 लैब हैं एक LNJP में और दूसरी ILBS हॉस्पिटल में है। यदि सैंपल टेस्ट की संख्या बढ़ती है तो केंद्र सरकार को नमूनें भेजा जाएागा। 

फ्लाइट पर लगे रोक:- विश्व में ओमिक्रॉन की चर्चा के पश्चात् से ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने खतरे वाले देशों से दिल्ली फ्लाइट पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी। अब दिल्ली में ओमिक्रॉन मरीज मिलने के पश्चात् सरकार ने इस मांग को फिर से दोहरा दिया है। सत्येंद्र जैन ने कहा कि केंद्र सरकार को संजीदगी से फ्लाइट पर पाबंदी लगाना चाहिए, जिससे ओमिक्रोन को नियंत्रित करना सरल होगा। क्योंकि हो सकता है कि किसी यात्री में लक्षण 7 दिन बाद में आए। 

मास्क लगाएं, 99 फीसदी बचने के चांस हैं:- सत्येंद्र जैन ने कहा कि ओमिक्रॉन के लक्षण बिल्कुल कोरोना की प्रकार होते हैं। ये कोरोना का एक नया वैरिएंट है। घर से बाहर निकलें तो मास्क अवश्य लगाएं।  99% चांस है कि आप कोरोना से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन का प्रथम डोज़ 90% से अधिक तथा दोनों डोज़ 60% से अधिक लोगों को लग चुका है। दिल्ली में टीकाकरण की स्पीड बढ़ाई गई है प्रतिदिन 1 लाख से अधिक टीकाकरण हो रहा है। लोगों से संपर्क कर रहे हैं जिससे वो तुरंत दूसरा डोज़ लगवाएं। 

बूस्टर डोज पर दिल्ली की राय:- उन्होंने कहा कि बूस्टर डोज़ के बारे में एक्सपर्ट या केंद्र सरकार जो भी नोटिफाई करेगी उसका पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अक्टूबर या नवंबर में तीसरी लहर आने के बारे में बोला गया था। आज अखबारों में पढ़ा कि जनवरी या फरवरी में तीसरी लहर आ सकती है। कोरोना नियमों का पालन करें तो तीसरी लहर से बचा जा सकता है। सभी को मास्क लगाना आवश्यक है, भीड़ में जाने से बचें।

क्या दिल्ली में बढ़ेगी सख्ती:- स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अब दिल्ली में कठोरता की जाएगी। लोगों से मास्क पहनने के लिए कहा जाएगा, बिना मास्क के कहीं भी एंट्री की मंजूरी नहीं दी जाएगी। 

नगालैंड फायरिंग में 14 हुई मरने वालों की संख्या, असम राइफल्स ने बताया क्यों हुआ था?

ASI पर युवती ने लगाया सगीन इलज़ाम, जानिए क्या है पूरा मामला

'पाकिस्तान प्रेमी हैं सिद्धू', बोले- 'PAK से व्यापार हुआ तो विकास होगा'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -