Omicron: एक अच्छा संकेत, एक्सपर्ट बोले- 'हाइब्रिड इम्युनिटी काफी असरदार'

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन इस समय पूरी दुनिया में डर की वजह बना हुआ है। फिलहाल यह कितना खतरनाक है, वैक्सीन इसके खिलाफ कितना असरदार है और इसके लक्षण बाकी वैरिएंट के मुकाबले कैसे हैं।।। इन सारे सवालों के जवाब पर रिसर्च जारी है। इन सभी के बीच टाटा इंस्टीट्यूट फॉर जेनेटिक्स एंड सोसाइटी के डायरेक्टर और हेल्थ एक्सपर्ट डॉ. राकेश मिश्रा ने यह दावा किया है कि कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन देश के बड़े शहरों में फैलेगा, लेकिन इसके लक्षण हल्के होंगे। हाल ही में उन्होंने यह भी कहा है की, 'भारत में कोविड की वैक्सीन ओमिक्रॉन के खिलाफ काफी प्रभावी साबित होगी और टीका लगवाने वाले नागरिकों के लिए सुरक्षा कवच बनेगी।'

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) के पूर्व प्रमुख डॉ. राकेश मिश्रा ने यह भी कहा कि, 'रिजल्ट बताते हैं कि ओमिक्रॉन के खिलाफ हाइब्रिड इम्युनिटी काफी असरदार साबित होगी। अप्रैल 2021 में भारत में आई दूसरी लहर के बाद अब अच्छी संख्या में टीकाकरण हो जाने से कोरोना वायरस के खिलाफ मजबूत इम्युनिटी बन गई है। वायरस के खिलाफ तीन तरह की इम्युनिटी काम कर रही हैं- संक्रमण से मिलने वाली नेचुरल इम्युनिटी, वैक्सीन से मिलने वाली वैक्सीन इम्युनिटी और हाइब्रिड इम्युनिटी, जिसमें पहले से संक्रमित व्यक्ति को भी टीका लग जाता है। टीकाकृत आबादी पर हाइब्रिड इम्युनिटी के असर के बारे में उन्होंने कहा कि इससे लोगों को भी काफी सुरक्षा मिलने की संभावना है।'

इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि, 'भारत में दूसरी लहर लाने वाले डेल्टा संस्करण की तुलना में ओमिक्रॉन अधिक संक्रामक हो सकता है। लेकिन इस वैरिएंट के लक्षण हल्के होना अच्छा संकेत है। यह तब होगा जब प्राकृतिक रूप से संक्रमित हुए लोगों का वैक्सीनेशन होगा। इससे बडी संख्या में हाइब्रिड इम्युनिटी में इजाफा होगा। ऐसे भी कुछ लोग रहे हैं, जो कोरोना से संक्रमित तो हुए लेकिन लक्षण नहीं दिखने की कारण उन्हें इस बारे में पता नहीं चल पाया।'

ओमिक्रॉन: इस राज्य में स्कूल-कॉलेज के 69 छात्र पॉजिटिव

ओमीक्रॉन से लड़ने के लिए तैयार पश्चिम बंगाल, इन दो अस्पतालों में होगा इलाज

दिल्ली और मुंबई समेत अब इस राज्य में भी OMICRON ने दी दस्तक, सामने आया नया मामला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -