अब इस खतरनाक वायरस ने दी दस्तक, जारी हुआ पक्षियों को मारने का आदेश

सुपौल: बिहार के सुपौल में बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। सदर थाना इलाके के छपकाही गांव में कुछ दिनों पहले अचानक कौओं तथा मुर्गियों की मौत होने लगी थी। तत्पश्चात, जब पशुपालन विभाग ने मामले की तहकीकात की तो गांव से पक्षियों के लिए गए नमूनें में बर्ड फ्लू की पुष्टी हुई है। बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के पश्चात् पशुपालन विभाग ने गांव में 1 किलोमीटर इलाके के भीतर मुर्गे-मुर्गियों को मारने का काम आरम्भ कर दिया है जिससे बर्ड फ्लू का वायरस अन्य क्षेत्रों में ना फैले। छपकाही गांव के 9 किलोमीटर इलाके के दायरे में जांच भी आरम्भ कर दी गयी है।

दरअसल, 2 हफ्ते पहले छपकाही गांव के वार्ड नंबर 1 से लेकर 11 तक में मुर्गे-मुर्गियों, बत्तख तथा कौओं की अचानक मौत होने लगी थी जिसके पश्चात् पशुपालन विभाग की टीम ने गांव जाकर तहकीकात की। पटना से टीम बुलाकर संक्रमित पक्षियों का नमूना लिया गया तो जांच में बर्ड फ्लू का केस सामने आया।

वही पशु पालन विभाग के निदेशक के आदेश पर सुपौल के कलेक्टर कौशल कुमार तथा एसपी डी अमर्केश ने संयुक्त निर्देश जारी कर रैपिड रिस्पांस टीम का गठन कर दिया है। इस टीम को संक्रमित पक्षियों को मारने का काम दिया गया है। बर्ड फ्लू के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए क्षेत्र के 1 से 9 किलोमीटर तक के दायरे में सभी गांवों को चिन्हित कर जांच करने के लिए टीम बना दी गयी है। इसका मकसद वक़्त रहते बर्ड फ्लू के वायरस को सीमित दायरे में रोकना है। छपकाही गांव को सेंटर मानते हुए 1 किलोमीटर के दायरे में सभी गांवों के मुर्गे-मुर्गियों को मारने के लिए पशुपालन विभाग ने 4 टीम का गठन किया है। वहीं अवसर पर पहुंचे जिला पशुपालन पदाधिकारी राम शंकर झा ने बताया सभी पक्षी पालने वाले व्यक्तियों को मुआवजा भी दिया जायेगा।  

भारत में खत्म हुआ कोरोना का कहर! 98.76 प्रतिशत हुआ रिकवरी रेट

हार्दिक के 'रॉकेट थ्रो' से पवेलियन लौटे संजू सेमसन, पॉवर इतनी ज्यादा कि स्टंप ही टूट गया, देखें Video

जम्मू कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़, लश्कर के दो आतंकी ढेर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -