+

कोर्ट ने अधिकारियों के हलफनामे को बताया फर्जी, TSRTC कर्मचारियों को बड़ी राहत

कोर्ट ने अधिकारियों के हलफनामे को बताया फर्जी, TSRTC कर्मचारियों को बड़ी राहत

अपनी मांगों को लेकर तेलंगाना में राज्य सड़क परिवहन निगम कर्मचारी अडे हुए हैं. राज्य सरकार के जरिये जारी की गई आखिरी तारीख देने के बाद भी कर्मचारियों ने अपनी हड़ताल जारी रखी. इसके बाद इस पूरे मामले में तेलंगाना उच्च न्यायालय का फैसला आया है. अब इस पूरे मामले पर तेलंगाना उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार से इस विषय पर चर्चा करने का आदेश दिया है.

मैदान में उतरेंगे गडकरी, मध्यस्थों के द्वारा शुरू होगा वार्तालाप

गुरुवार को कोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश देते हुए कहा कि एक महीने की लंबी हड़ताल को सुलझाने के लिए तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (TSRTC) के साथ राज्य सरकार विचार-विमर्श करके इसका समाधान निकाले. अदालत ने इससे पहले सरकार के प्रस्तुत करने में निगम के बारे में जानकारी के बेमेल पर नाराजगी व्यक्त की और 11 नवंबर को सुनवाई करने के लिए मामले को बढ़ाया था.

प्रधानमंत्री को ''डिवाइडर इन चीफ'' कहने वाले आतिश तासीर का OCI कार्ड निरस्त

अपने बयान में टीएसआरटीसी कर्मचारी यूनियनों की संयुक्त एक्शन कमेटी अश्वमाता रेड्डी ने कहा कि आज तेलंगाना सरकार के वरिष्ठ अधिकारी उच्च न्यायालय में आए और अदालत ने कहा कि आरटीसी कर्मचारियों के मामले में अधिकारियों ने जो हलफनामा दायर किया है वह फर्जी है. अदालत ने यह भी जांच की कि कौन सी रिपोर्ट को सही माना जाना चाहिए. अदालत ने अधिकारियों से 11 नवंबर से पहले आरटीसी कर्मचारियों के मुद्दे को हल करने की बात कही है.

पाकिस्तान ने श्री श्री रविशंकर को इस ऐतिहासिक कार्य के लिए भेजा आमंत्रण

बिहार विधानसभा चुनाव : महागठबंधन को लगा तगड़ा झटका, मांझी ने किया दांव उलटा

करतारपुर कॉरिडोर के पहले जत्थे में शामिल होंगे बीजेपी सांसद सनी देओल, कांग्रेस नेता सिद्धू को भी मिली अनुमति