स्ट्रांजा मेमोरियल मुक्केबाजी: इस मुक्केबाज़ ने बनाई फ़ाइनल में जगह

स्ट्रांजा मेमोरियल मुक्केबाजी: इस मुक्केबाज़ ने बनाई फ़ाइनल में जगह

भारतीय टीम के मुक्केबाज मोहम्मद हसमुद्दीन (57 किग्रा) शनिवार को यहां बुल्गारिया के सोफिया में चल रहे 71वें स्ट्रांजा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट के फाइनल में हार गए जिससे उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा. 

वहीं इस बारें में हम आपको बता दें कि राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदकधारी हसमुद्दीन को फाइनल में इटली के फ्रांसिस्को माईएटा से 1-4 से हार का सामना करना पड़ा. हसमुद्दीन इस टूर्नामेंट में 2017 में भी रजत पदक जीत चुके हैं.

जंहा यह भी पाया गया है कि इससे पहले विश्व चैंपियनशिप की पूर्व रजत पदकधारी सोनिया लाठेर (57 किग्रा) और चार बार के एशियाई चैंपियन शिव थापा (63 किग्रा) को सेमीफाइनल में हार का सामना करने के बाद कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था. भारतीय मुक्केबाजों ने टूर्नामेंट में कुल तीन पदक हासिल किए. टूर्नामेंट में 30 देशों के 200 से ज्यादा मुक्केबाजों ने भाग ले चुके है.

जन्मदिन विशेष: अपने पहले ही मैच में झटक लिए ७ विकेट, दिग्गज स्पिनरों के युग में बनाई अपनी पहचान

NZ vs IND: पिच पर चढ़ेगा क्रिकेटरों रंग, जानें कैसा होगा ऑकलैंड का मौसम

Republic day 2020: धोनी समेत इन क्रिकेटर्स ने सेना की वर्दी पहन ठोका तिरंगे को सलाम