अब बूँद-बूँद को तरसेगा पाकिस्तान, मोदी सरकार ने रोका तीन नदियों का पानी

नई दिल्ली: एक अहम् कदम के तहत, भारत ने पाकिस्तान में बहने वाली तीन पूर्वी नदियों का पानी रोक दिया है, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल ने रविवार को राजस्थान के बीकानेर में इस बात की जानकारी दी। यह फैसला 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव के बाद आया है, जिसमें सीआरपीएफ के 44 जवान शहीद हो गए थे। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी।

2020 तक 100 अरब डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आकर्षित करने का लक्ष्य : सुरेश प्रभु

केंद्रीय जल संसाधन राज्य मंत्री मेघवाल ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि पाकिस्तान में बहने वाली पूर्वी नदियों के 0.53 मिलियन एकड़ क्षेत्र को रोक दिया गया है। उन्होंने कहा, “0.53 मिलियन एकड़ फीट पानी पाकिस्तान जाने से रोक दिया गया है और संग्रहीत किया गया है। जब भी राजस्थान या पंजाब को इसकी आवश्यकता होगी, उस पानी का उपयोग पीने और सिंचाई के उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है। ”

अपने बेटे की तस्वीर शेयर कर अनीता भाभी ने दी महिलाओं को महिला दिवस की बधाई

केंद्र द्वारा लिया गया नवीनतम कदम 1960 की सिंधु जल संधि का उल्लंघन नहीं करता है क्योंकि पानी को तीन पूर्वी नदियों, जैसे सतलज, रावी और ब्यास को रोक दिया गया है, जिसका पानी भारत संधि के तहत उपयोग करने का हकदार है। पिछले महीने नृशंस पुलवामा हमले के बाद, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की थी कि भारत ने सिंधु जल संधि के तहत नदियों से पाकिस्तान को पानी के अपने हिस्से के प्रवाह को रोकने का फैसला किया है। संधि के अनुसार, पश्चिमी नदियों, यानी सिंधु, झेलम और चिनाब का पानी पाकिस्तान द्वारा इस्तेमाल किया जाएगा, जबकि पूर्वी नदियों (सतलज, रावी और ब्यास) का उपयोग भारत द्वारा किया जाएगा।

खबरें और भी:-

सप्ताह के आखिरी दिन थमी गिरावट सोने की कीमतों में आई तेजी

महिला दिवस के मौके पर पंजाब सरकार ने दिया यह ख़ास तोहफा

महिला दिवस पर महिलाओं को खुद की तरह हवा में उड़ने के लिए कह रही है यह एक्ट्रेस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -