सैकड़ों युवाओं का पुलिस लाठीचार्ज करके घायल करना अति-दुःखद व निन्दनीय: मायावती

लखनऊ: काफी लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे 69 हजार शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों के पक्ष में बसपा सुप्रीमो मायावती ने बयान दिया है। हाल ही में उन्होंने अभ्यर्थियों पर हुए लाठीचार्ज की निंदा की और सरकार से उनकी मांगों पर विचार करने की अपील की है। जी दरअसल उन्होंने ट्वीट कर हाल ही में कहा है कि, 'यूपी में 69 हजार शिक्षक भर्ती के पुराने व लम्बित मामले को लेकर राजधानी लखनऊ में कल रात शान्तिपूर्ण कैंडल मार्च निकालने वाले सैकड़ों युवाओं का पुलिस लाठीचार्ज करके घायल करना अति-दुःखद व निन्दनीय है। सरकार इनकी जायज मांगों पर तुरन्त सहानुभूतिपूर्वक विचार करे, यह बसपा की मांग है।'

आप सभी को बता दें कि बेसिक के 69 हजार शिक्षक भर्ती में 22 हजार रिक्त सीटों को जोड़कर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने की मांग को लेकर पांच माह से यहां निशातगंज स्थित एससीईआरटी पर आंदोलन कर रहे अभ्यर्थियों को बीते शनिवार शाम 1090 चौराहे से मुख्यमंत्री आवास तक कैंडल मार्च निकालना भारी पड़ा। वहीं इस दौरान पुलिस ने इन्हें रास्ते में रोकने की कोशिश की लेकिन कोई नहीं माना। उनके न मानने पर लोहिया पथ पर लाठियों से पीटकर खदेड़ा गया और इससे छह से अधिक अभ्यर्थियों को चोटें आईं हैं।

इस मामले में अब अभ्यर्थियों का आरोप है कि वे अपनी मांगों को लेकर कई बार डालीबाग स्थित मंत्री आवास पर बेसिक शिक्षामंत्री से मिलने गए और उनसे मुलाकात न होने पर वहां भी प्रदर्शन व नारेबाजी की। इस तरह से अब इनका आंदोलन लगातार चल रहा है। बीते शनिवार शाम अभ्यर्थियों ने कैंडल मार्च निकाला और इससे पहले शनिवार दोपहर अभ्यर्थियों ने हजरतगंज स्थित भाजपा कार्यालय पर प्रदर्शन किया था।

सरकारी नौकरी पाने के लिए पास करनी होगी तमिल भाषा की परीक्षा, लाने होंगे इतने % नंबर

नागालैंड की घटना पर भड़के राहुल गांधी, पूछा ये सवाल

दर्दनाक हादसा, मंदिर से लौटते समय बाइक को ट्रक ने रौंदा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -