सांप काटा तो अस्पताल में भर्ती हुई महिला, लेकिन इलाज के लिए तांत्रिक को बुला लाए परिजन

Jul 16 2019 11:54 AM
सांप काटा तो अस्पताल में भर्ती हुई महिला, लेकिन इलाज के लिए तांत्रिक को बुला लाए परिजन

दमोह: लाख कोशिशों और दावों के बाद भी देश से अंधविश्वास के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं, किन्तु यह खेल जब सरकारी संस्थानों में खेला जाए तो सिस्टम कटघरे में अवश्य खड़ा होता है और एक ऐसा ही मामला दमोह से प्रकाश में आया है। जिसे देखकर आप अंधविश्वासी समाज को कोसेंगे और कहीं ना कहीं बीमार सिस्टम को भी जिम्मेदार ठहराएंगे। दमोह में बीमारी के उपचार के नाम पर जिला अस्पताल में झाड़-फूंक का खेल खेला जा रहा है। 

उल्लेखनीय है कि दमोह के जिला अस्पताल में डॉक्टर्स नहीं बल्कि तांत्रिक उपचार कर रहे हैं। जिला अस्पताल में सरेआम झाड़फूंक तंत्र-मंत्र किए जा रहे हैं और इन सब पर लोग मूकदर्शक बने हुए हैं। तांत्रिक इतना बेखौफ है कि उसे इस बात का भी भय नहीं की की सब कुछ कैमरे में कैद हो रहा है। दरअसल, झाड़फूंक के पीछे का कारण महिला को सांप का काटना है। पीड़ित महिला को सांप के काटने की वजह से जिला अपस्ताल में भर्ती कराया गया, जहां पहले तो डॉक्टर्स से महिला का उपचार कराया गया और फिर रात में झाड़-फूंक शुरू कर दी गई।

वहीं अस्पताल में बैठे लोग सब कुछ चुप चाप देख रहे हैं, लेकिन इन्हें रोकने वाला कोई नहीं है। लगभग घंटे भर तक चलते रहे इस झाड़फूंक के खेल को ना तो अस्पताल स्टाफ ने रोका ना ही सुरक्षाकर्मियों ने। आखिरकार महिला को वापस अस्पताल के बिस्तर पर लिटा दिया गया और फिर इलाज शुरू हो गया। इस मामले में विशेष बात ये है की पूरी अस्पताल में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं जिसकी निगरानी भी होती है, किन्तु घंटे भर के चले इस कार्यक्रम पर किसी का ध्यान नहीं गया। वहीं चिकित्सकों का कहना है कि यहां आए दिन ऐसा होते रहता है, लोग मना करने के बाद भी नहीं सुनते हैं।

मनमोहन सिंह संभाल सकते हैं कांग्रेस की कमान, अध्यक्ष पद की दौड़ में आगे है नाम

मैच के दौरान अचानक निर्वस्त्र होकर मैदान में दौड़ने लगा शख्स, सुरक्षाकर्मियों ने पकड़ा

हुआवेई करने जा रही है सैकड़ों अमेरिकी श्रमिकों की छंटनी