लॉकडाउन : शराबी की हुई हालत खराब, निराश होकर किया ऐसा काम

संपूर्ण भारत में संक्रमण के दौरान कई लोगों की आत्महत्या का मामले सामने आ रहे हैं. पुलिस ने रविवार को कहा कि कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन के कारण शराब नहीं मिलने से निराश होकर दो लोगों ने केरल के विभिन्न हिस्सों में आत्महत्या कर ली. पुलिस ने कहा कि त्रिशूर जिले के कोडुंगलूर के सुनेश (32) ने कथित तौर पर एक नदी में डूबकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने कहा कि नौफाल (34) ने कथित तौर प आफ्टर शेव लोशन पी लिया.       

कई क्षेत्रो से उत्तराखंड पहुंचे 3000 लोग                                                                 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सुनेश शराब न मिलने पर निराश था और वापसी के लक्षण दिखा रहा था. शिकायत में कहा गया है कि वह देर रात घर से निकला और नदी में कूद गया. जांच अधिकारी ने कहा कि उसका शव त्रिशूर जिले के इरिनजालाकुडा से बरामद किया गया था. नौफ़ल को बेचैनी महसूस होने के बाद अलाप्पुझा जिले में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. परिवार के बयान के अनुसार, वह एक साल पहले विदेश से लौटने के बाद नियमित रूप से शराब का सेवन कर रहा था. वल्लिकुन्नम पुलिस ने कहा कि उसे शराब ना मिल पाने के बाद उसने आफ्टर शेव लोशन पिया. इससे पहले, 38 वर्षीय एक दिहाड़ी मजदूर सनोज ने शुक्रवार को आत्महत्या कर ली थी, अपने घर के पास एक पेड़ से लटक कर फांसी लगा ली थी.

उत्तराखंड : क्वारंटीन लोगों के घर के आगे लगाया जायेगा बोर्ड

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि राज्य सरकार ने पहले सूचित किया था कि जिन लोगों में शराब का सेवन न करने के कारण बैचेनी होती हैं, वे जिलों में नशामुक्ति केंद्रों का उपयोग कर सकते हैं. केरल में राज्य द्वारा संचालित बेवरेजेस कॉरपोरेशन आउटलेट सहित शराब की दुकानों को राष्ट्रीय बंद के बाद बंद कर दिया गया. जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया है. ताकि कोराना वायरस के प्रसर को कम किया जा सके.

कोरोना वायरस : अब तक 979 लोग हुए संक्रमित, 25 मरीजों ने गवाई जान

पायलट को बनाया कोरोना ने शिकार, इस कंपनी का उड़ाते थे विमान

गुजरात : अब तक राज्य में कुल 58 लोग हुए संक्रमित, इस महिला की हुई मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -