बेहद खतरनाक है लीवर का यह संक्रमण, ऐसे करें बचाव

बेहद खतरनाक है लीवर का यह संक्रमण, ऐसे करें बचाव

असंयमित और गलत खान-पान लीवर इंफेक्शन का प्रमुख कारण होता है। यह एक गंभीर शारीरिक समस्या है। यह रोग एक वायरस की वजह से होता है जिसके कई रूप हैं। हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी आदि इस संक्रमण के लिए जिम्मेदार होते हैं। हेपेटाइटिस ए मुख्यतः रोगी के मल द्वारा फैलता है। यह संक्रमण से दो हफ्ते तक रोगी के मल में देखा जा सकता है। हेपेटाइटिस बी और सी रक्त द्वारा फैलता है। बदन में सुस्ती रहना, भूख बंद हो जाना, जी मिचलाना, उल्टियां-दस्त आदि इस रोग के प्रमुख लक्षण हैं।

वजन बढ़ाने के लिए लिया गया पाउडर हो सकता है घातक, जानें इसके साइड इफ़ेक्ट

यह है इसके लक्षण 

हम आपको बता दें इस रोग में लीवर का आकार बढ़ने लगता है जिसके कारण पेट में दर्द की शिकयत रहती है। हेपेटाइटिस बी के संक्रमण से कभी-कभी रोगी को बोलने में भी तकलीफ होने लगती है। रोग के अनियंत्रित होकर क्रौनिक हेपेटाइटिस बन जाने पर उपरोक्त सभी लक्षण एक साथ दिखने लगेत हैं। ऐसे में रोगी को पूर्ण आराम की जरुरत होती है। किसी भी हाल में रोगी को थकान नहीं होना चाहिए।

छाती में संक्रमण के चलते अस्प्ताल में भर्ती हुए दलाई लामा

इसका सेवन है जरुरी 

इसी के साथ पौष्टिक आहार लेना जरुरी होता है। लगभग 2-3हजार कैलोरी प्रतिदिन शरीर के लिए आवश्यक है। फल, ग्लूकोज, प्रोटीन युक्त भोजन जरुरी है। लीवर से संबंधित किसी भी समस्या के समाधान के लिए आहार पर ध्यान देना बहुत जरुरी है। ऐसी सब्जियां जो लीवर के लिए आवश्यक तत्व उपलब्ध कराती हों उनका सेवन करना चाहिए। 

नाश्ते में ट्राई करें पास्ता कटलेट डिश, होगा थोड़ा चेंज

जोड़ों के दर्द को दूर करते अरबी के पत्ते

स्क्रैच लगे चश्मे लगाने के होते हैं कई नुकसान, जान लें