क्या आप जानते है DMK के नए अध्यक्ष बनने वाले एमके स्टालिन की यह कहानी ?

क्या आप जानते है DMK के नए अध्यक्ष बनने वाले एमके स्टालिन की यह कहानी ?

तमिलनाडु। आज चेन्नई की राजनीति में जो नाम सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बना हुआ है वो है DMK के नए अध्यक्ष बनने वाले  एमके स्टालिन का नाम। ऐसा इसलिए क्योंकि तमिलनाडु में पूर्व मुख्यमंत्री और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के पूर्व प्रमुख एम करूणानिधि की मौत के बाद से इस बात पर बहुत संदेह और बहसबाजी हो रही थी कि अब उनकी जगह कौन लेगा। 
 

आज चेन्नई में द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) की सभा में एमके स्टालिन को निर्विरोध चुने जाने के बाद से उनके समर्थकों ने जश्न मनाना शुरू कर दिया है। लेकिन क्या आप जानते है कि एमके स्टालिन आखिरकौन है और उनकी कहानी क्या है ? अगर नहीं तो निराश मत होईये, बस आगे पढ़िए और अपना ज्ञान बढ़ाइए। 

2G स्पेक्ट्रम मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने जवाब दाखिल करने के लिए दिया और समय

कौन हैं एम के स्टालिन?

एम के स्टालिन का पूरा नाम मुथुवेल करुणानिधि स्टालिन है। वो तमिलनाडु में पूर्व मुख्यमंत्री और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के पूर्व प्रमुख स्वर्गवासी एम करूणानिधि के तीसरे बेटे हैं। उनकी उम्र 65 साल है। 

 

विरासत में मिली राजनीति
एमके स्टालिन का जन्म 1 मार्च 1953 को तमिलनाडु के चेन्नई में हुआ था। उनका जन्म मशहूर राजनीतिज्ञ स्वर्गवासी एम करूणानिधि के घर हुआ था। उनके जन्म से पहले ही उनके पिता राजनीति में अच्छा खासा मुकाम हासिल कर चुके थे। 

नाम के पीछे भी है एक रोचक कहानी 
एमके स्टालिन के इस नाम के पीछे भी एक रोचक कहानी है. वे जब पैदा हुए थे उससे सिर्फ 4 दिन पहले सोवियत कम्युनिस्ट नेता जोसेफ स्टालिन का निधन हुआ था। तब उनके पिता एम करुणानिधि जोसेफ स्टालिन के लिए आयोजित एक शोकसभा में शामिल हुए थे। इस सभा में ही उन्हें यह खबर दी गई कि उनके घर बेटे का जन्म हुआ है। और सम्मान देने के लिए अपने इस बेटे का नाम स्टालिन के नाम पर रखने का निर्णय ले लिया। 

 

जेल भी जा चुके है स्टालिन 

स्टालिन ने  मद्रास विश्वविद्यालय से इतिहास (हिस्ट्री) में ग्रैजुएशन किया है। वे 1975 के आपातकाल के आपातकाल के दौरान जेल  भी जा चुके है।  2006 में तमिलनाडु विधानसभा चुनावों के बाद उन्हें स्थानीय प्रशासन मंत्री बनाया गया था। इसके  बाद  2009 में वो राज्य के उपमुख्यमंत्री बन गए। राजनीति में आने से पहले स्टालिन फिल्मों में भी अपनी किस्मत आजमा जा चुके है। हालाँकि उन्हें फिल्मों में कोई खास कामयाबी नहीं मिली थी। 

ख़बरें और भी 

एमके स्टालिन निर्विरोध चुने गए DMK अध्यक्ष, करूणानिधि को भारत रत्न देने की मांग

डीएमके: अलागिरी की खुली चेतावनी, अगर पार्टी में शामिल नहीं किया तो परिणाम भुगतने होंगे

करूणानिधि के निधन के बाद सत्ता को लेकर दोनों बेटे आमने-सामने

 

?