एमके स्टालिन निर्विरोध चुने गए DMK अध्यक्ष, करूणानिधि को भारत रत्न देने की मांग

एमके स्टालिन निर्विरोध चुने गए DMK अध्यक्ष, करूणानिधि को भारत रत्न देने की मांग

चेन्नई। पिछले कुछ समय से चेन्नई की द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) पार्टी के अध्यक्ष पद के नए उम्मीदवार को लेकर काफी अटकले और बहसबाजी हो रही थी। लेकिन अब इस मामले में सभी विरोधाभासों पर लगाम लग गई है। दरअसल डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन के पार्टी अध्यक्ष चुन लिए गए है। 

2G स्पेक्ट्रम मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने जवाब दाखिल करने के लिए दिया और समय

दरअसल आज चेन्नई में  द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) पार्टी की आम कॉउंसिल मीटिंग आयोजित की गयी थी। इसी सभा में  पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन को निर्विरोध DMK का अध्यक्ष चुन लिया गया है। इस मीटिंग की शुरुवात में पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं ने तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय एम् करूणानिधि को श्रदांजलि अर्पित करने के लिए दो मिनट का मौन रखा था। इसके साथ ही पार्टी ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी और और पूर्व लोकसभा स्पीकर सोमनाथ चटर्जी को भी याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस सभा में DMK पार्टी ने केंद्र सरकार से यह अनुरोध भी किया है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता रह चुके तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय एम् करूणानिधि को भारत रत्न से नवाजा जाए। 
करूणानिधि के निधन के बाद सत्ता को लेकर दोनों बेटे आमने-सामने

यह कार्यक्रम चेन्नई स्थित DMK पार्टी हेडक्वार्टर पर आयोजित किया गया था। इस सभा में स्टालिन के अध्यक्ष बनने का औपचारिक ऐलान किया गया और स्टालिन के अध्यक्ष चुने जाने के बाद ही उनके समर्थकों ने जश्न मनाना भी शुरू कर दिया है। उल्लेखनीय है स्वर्गीय एम् करूणानिधि के छोटे बेटे स्टालिन ने बीते रविवार को पार्टी अध्यक्ष के पद के लिए नामांकन दाखिल किया था।  उनके अलावा डीएमके के वरिष्ठ नेता दुरई मुरुगन ने बगही पार्टी कोषाध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया था। 

ख़बरें और भी 

डीएमके: अलागिरी की खुली चेतावनी, अगर पार्टी में शामिल नहीं किया तो परिणाम भुगतने होंगे

रजनीकांत के निशाने पर आए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री

कौन होगा करूणानिधि का उत्तराधिकारी, 14 अगस्त को डीएमके करेगा बैठक

?