कृष्णा भगवान ने यशोदा माँ को दिखाया विराट रूप

रामानंद सागर की रामायण के देश और दुनियाभर में सबसे लोकप्रिय धारावाहिक की उपाधि पाई. इसके साथ ही उसी के दर्ज पर अब डी डी नेशनल पर सागर आर्ट्स तले बने सीरियल कृष्णा का प्रसारण हो रहा है. वहीं ऐसे में अगर आप से लेटेस्ट एपिसोड छूट गया है तो चिंता मत कीजिए. आइए हम आपको बताते है कि गुरुवार के एपिसोड में क्या क्या हुआ.यशोदा की सहेलियां कहती हैं कि तेरे कान्हा ने बड़ा मिट्टी का ढेला खाया है. वहीं यशोदा, कृष्णा के मुख को अपने आंचल से साफ करती है. सहेलियां यशोदा से बोलती है तू बेचारे को माखन नहीं देती होगी इसलिए उसने मिट्टी को माखन समझ कर खा लिया होगा. वहीं कृष्णा यह सुन कर मुस्कराते हैं. यशोदा कृष्णा से कहती है दिखा मुंह अपना कितनी मिट्टी है. खोल मुंह अपना. वहीं कृष्णा बड़े प्यार से कहते है कि मैंने मिट्टी नहीं खाई.

इसके साथ ही यशोदा कहती है खोल मुँह अपना तभी कृष्णा अपना मुंह खोलते है और उनके मुंह में सारा ब्रह्मांड दिखाई देता है, जिसे देख यशोदा की आंखें दंग रह जाती है. यहां तक कि यशोदा को अपना और कृष्णा का मुख भी दिखाई देता है. तभी भगवान कृष्णा प्रकट होते है और यशोदा से कहते है कि माया के आवरण से बाहर निकलो और अपनी आत्म रूप में स्थित हो कर हमारी अदभुत लीला देखो.कृष्णा भगवान यशोदा से कहते है कि तुम्हारि पूर्व जन्म में घोर तपस्या के फल से ही तुम्हें हमारे इस विराट स्वरूप के दर्शन हुए है, जो आज तक किसी भी मनुष्य को नहीं हुए. वहीं कृष्णा भगवान यशोदा को अपने पूर्व जन्म के नरसिम्हा अवतार के दर्शन कराते है. इसके बाद वो कहते है कि यही सच्चा ज्ञान है जो कि ज्ञान से परे है. यशोदा कृष्णा से कहती है कि हे प्रभु मैं अब तक आप के मोह जाल मैं रह कर आप को अपने पुत्र की पालन और रक्षा कर रही थी. उस भूल के लिए मुझे क्षमा करें. आप मुझे अपनी भक्ति प्रदान करे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें की कृष्णा भगवान कहते है कि अब तुम हमें प्राप्त कर सकोगी. यह मां बेटे का खेल ही तुम्हारी आलोकिक लीला है. इस खेल को मां की संपूर्ण भावना के साथ खेलती रहो इसी में तुम्हारा कल्याण होगा. भगवान कृष्णा चले जाते है और उसी वक्त योग माया आती है और यशोदा को जो भगवान से दिव्य ज्ञान प्राप्त हुआ था उस पर पर्दा डाल देती है, जिससे यशोदा को मिला ज्ञान उनकी आत्मा में ही रहे. वहीं कृष्णा भगवान से राधा कहती है कि ये कौन सी माया है जिसे आप ने परम ज्ञान दिया और उस पर योग माया ने प्रदा डाल दिया ये तो अन्याय है. इसके साथ ही भगवान कृष्णा कहते हैं कि इस में योग माया की कोई गलती नहीं है. यह सभी हमारे इशारों से ही हो रहा है. यदि  योग माया ये प्रदा ना डालता तो उनकी पूर्व जन्म की तपस्या का फल कैसे मिलता. वहां प्रदा हटते ही यशोदा भगवान से प्रथना करती है उसके लाल की रक्षा करे उसके मुंह में कोई भूत प्रेत घुस गया है.

जय भानुशाली को पहली बार होस्ट करते देख बेटी ने दिया ऐसी रिएक्शन

कपिल शर्मा ने कायस्थ समाज से मांगी माफी

अर्चना पूरण सिंह को हाउस हेल्प ने गिफ्ट किया गुलदस्ता

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -