अभी ख़तम नहीं हुआ है बाढ़ का कहर, 2040 तक ढाई करोड़ लोगों को होगा खतरा : केंद्रीय जल आयोग

Aug 30 2018 06:12 PM
अभी ख़तम नहीं हुआ है बाढ़ का कहर, 2040 तक ढाई करोड़ लोगों को होगा खतरा :  केंद्रीय जल आयोग

नई दिल्ली। केरल में आई सदी की सबसे भीषण बाद त्रासदी का कहर अभी कुछ काम हुआ ही था कि केंद्रीय जल आयोग ने इस मामले से जुडी एक चेतावनी जारी कर दी है। केंद्रीय जल आयोग ने अपनी एक हालिया रिपोर्ट में कहा है कि सन 2040 तक ढाई करोड़ लोगों को बाढ़ से खतरा होगा। 

केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए UAE भेजेगा 175 टन राहत सामग्री

केंद्रीय जल आयोग ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि 1953 से 2017 तक ( 64 साल में) बारिश और बाढ़ की वजह से देश में कुल एक लाख से अधिक  लोगों की मौतें हुई हैं। इसके साथ ही बाढ़ की वजह से फसल, मकान और सार्वजनिक सेवाओं का कुल 3 लाख 65 हजार 860 करोड़ रुपयों से ज्यादा का नुकसान हो गया है। इसके साथ ही राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण बोर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक देश का करीब 4 करोड़ हेक्टेयर का क्षेत्र हमेशा बाढ़ की चपेट में रहता है। 

 

देश के दक्षिणी राज्यों में आने वाले भीषण बाढ़ को लेकर वैज्ञानिको का कहना है कि केरल और उसके आस-पास के राज्य तीनों ओर से समुद्र से घिरे है और जब मानसून की हवाएं बंगाल की खाड़ी की के बजाए अरब सागर से आये तो केरल और वेस्टर्न घाट रीजन में भारी बारिश होने लगती है। मौसम विभाग ने यह  भी कहा है कि ऐसी  में लोगों की जान जाने की एक वजह उनकी मानसिकता भी होती है। दरअसल मौसम विभाग स्थानीय लोगों को आपदा आने से पहले ही जागरुक कर देता है, लेकिन लोग अपनी मानसिकता की वजह से इतनी जल्दी घर छोड़ कर नहीं जाते। उन्हें लगता है कि इस तरह के एलर्ट तो हर साल ही किए जाते हैं।

केरल की हालत देखकर रो पड़ी कंगना, लोगों से कही ऐसी बात

गौरतलब है कि अभी हाल ही में केरल में 15 दिनों से लगातार तेज बारिश होने की वजह से केरल में पिछले १०० सालों की सबसे भीषण बाढ़ आई थी। इस बाढ़ की वजह से 350 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी और 4 लाख से अधिक लोग बेघर हो गए थे। 

ख़बरें और भी 

केरल में आई आपदा पर इस एक्ट्रेस ने दिया विवादित बयान

पीएम मोदी के 'मन की बात' की 10 अहम बाते

PM मोदी के मन की बात: केरलवासियों के साहस से शीघ्र खड़ा होगा राज्य

?