कपूर और बादाम के तेल से जलाया, 2 साल की मासूम ने अस्पताल में तोड़ा दम... पुलिस को नरबलि की आशंका

बैंगलोर: कर्नाटक में बेलागवी पुलिस ने काले जादू के एक संदिग्ध मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है. 23 सितंबर को अथानी के पास हल्याल गांव में गन्ने के खेत में दो वर्षों की बच्ची की बेहोश पाई गई थी, जिसने शुक्रवार को दम तोड़ दिया. पुलिस ने बताया है कि, बच्ची के शव पर जलने, यातना दिए जाने के निशान मिले हैं. बच्ची का बेलगावी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (BIMS) में उपचार चल रहा था, हालांकि शुक्रवार सुबह अस्पताल में बच्ची की मौत हो गई.

एक अधिकारी के अनुसार, बच्ची किसानों को खेत में जख्मी अवस्था में रोते हुए मिली थी, जिसके बाद वो उसे पास के प्राइवेट अस्पताल ले गए. वहां उसकी हालत बिगड़ने के बाद उसे BIMS रेफेर कर दिया गया. शुरुआत में अधिकारियों को यौन उत्पीड़न का शक था, क्योंकि लड़की के शरीर पर सिगरेट जैसे जलाए जाने के चिन्ह थे. हालांकि, मेडिकल जांच ने पुष्टि कर दी है कि बच्ची का यौन उत्पीड़न नहीं हुआ था. पुलिस के अनुसार, जांच के दौरान पता चला है कि कपूर और बादाम के तेल का उपयोग करके उसे जलाया गया था. कपूर और बादाम तेल दोनों ही कथित तौर पर काले जादू में उपयोग किए जाते हैं और शरीर पर मिले निशान भी इसी ओर इशारा कर रहे हैं. हम मामले की जांच कर रहे हैं. 

पुलिस के अनुसार, अभी तक लड़की की शिनाख्त नहीं हो पाई है. हमने बच्ची की तस्वीर प्रसारित की थी, मगर लोगों को उसके और उसके परिवार के बारे में कोई जानकारी नहीं है. बेहोश होने के चलते वह पुलिस को बयान भी नहीं दे पाई. पुलिस ने बताया किम बच्ची की पहचान करने के लिए हमने सभी पुलिस स्टेशनों को लापता हुए बच्चों की शिकायतों की जानकारी शेयर करने के लिए कहा है. जांच टीम को संदेह है कि इस मामले में लड़की के माता-पिता भी शामिल हो सकते हैं, क्योंकि किसी भी थाने में बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज नहीं है.

हिंदू लड़कियों से कुंवारा हूँ कहकर संबंध बनाता है अमीरुल

प्रेमी ने की लिव-इन में रह रही युवती की चाकुओं से गोदकर हत्या

मादक पदार्थों की तस्करी में शामिल तीन लोगों को NCB ने किया गिरफ्तार

Most Popular

- Sponsored Advert -