फल या ज्यूस, जानें क्या है सेहत के लिए अधिक लाभकारी

फल या ज्यूस, जानें क्या है सेहत के लिए अधिक लाभकारी

अगर आप यह सोच रहे हैं कि फल खाने की बजाए जूस पी लेना (Juice v/s Fruits) ही बेहतर है, तो सेहत के मामले में यह एक गलत निर्णय हो सकता है. जूस में आपको कई तरह मिलावट मिल सकती है जिसके कारण आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि जूस भी सेहत के लिए अच्‍छे हैं पर इन्‍हें फल का विकल्‍प मान लेने में कुछ दिक्‍कते हैं. खासतौर से मॉनसून में तो आहार विशेषज्ञ आपको ताजे फल खाने की ही सलाह देते हैं. लेकिन अगर आप पैक्‍ड या खुला जूस पीने की सोचते हैं ओट पहले जान लें इससे जुड़ी परेशानियां .आइए जानते हैं क्‍या है सेहत के लिए ज्‍यादा बेहतर जूस या फ्रूट. 

बढ़ रहा है फलों की बजाए जूस पीने चलन 
इन दिनों लोगों में फलों की बजाए जूस पीने का चलन ज्‍यादा बढ़ रहा है. यह ज्‍यादा सुविधाजनक भी है. इसे जब चाहें पिया जा सकता है और पैक्‍ड जूस को स्‍कूल या ऑफि‍स में कैरी भी किया जा सकता है. पर यह कहीं से भी फलों का विकल्‍प नहीं हो सकता. मॉनसून के मौसम में संक्रमण का खतरा भी बना रहता है.

जानिए क्‍या है बेहतर फ्रूट या जूस
फलों में मौजूद फाइबर पेट के लिए काफी फायदेमंद होते हैं. यह पानी के अवशोषण में मदद करते हैं, जिससे बॉडी ज्‍यादा समय तक हाइड्रेट रहती है. जबकि जूस बनाने की प्रक्रिया में फाइबर निकल जाते हैं. 

जसू में नहीं होता फाइबर
अगर बात फाइबर की हो तो फल जूस   से कही ज्‍यादा बेहतर हैं. फलों में मौजूद फाइबर पेट के लिए काफी फायदेमंद होते हैं. यह पानी के अवशोषण में मदद करते हैं, जिससे बॉडी ज्‍यादा समय तक हाइड्रेट रहती है. जबकि जूस बनाने की प्रक्रिया में फाइबर निकल जाते हैं.

पाचन संबंधी दिक्‍कतें
फलों के रस  में विटमिन, प्रोटीन, फैट्स, मिनरल्स और विटमिन-सी की मात्रा अधिक नहीं होती, लेकिन शुगर की मात्रा इसमें बहुत ज्यादा होती है. इसलिए फलों का रस पीने के बाद लूज मोशन या फिर पेट दर्द जैसी शिकायत हो सकती है. अगर आप जूस ज्यादा पीते हैं, तो बॉडी में बहुत ज्यादा कैलरीज जाएंगी. जबकि फल खाने में यह समस्‍याएं नहीं होतीं.

जानिए योग करने का क्या है सही समय..

स्मोकिंग छोड़ने की सोच रहे हैं तो इन बातों पर भी कर लें गौर

रसोई की ये चीज़ें डायबिटीज से दिलाएंगी छुटकारा