बड़ी खबर: जनवरी में आएगी कोरोना की तीसरी लहर लेकिन नहीं होगा ज्यादा असर!

कानपूर: कोरोना के नए वेरियंट का खतरा अभी भी बरकरार है। इसी के चलते तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है (Covid Third Wave)। अब इन सभी के बीच आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) के एक वैज्ञानिक ने चौकाने वाला दावा किया है। जी दरअसल वैज्ञानिक ने यह दावा किया है कि साउथ अफ्रीका में 18 से 23 दिसंबर तक तीसरी लहर अपनी पीक पर होगी।

वहीं दूसरी तरफ उन्होंने कहा है कि भारत में तीसरी लहर जनवरी में दतस्क दे सकती है, लेकिन राहत की बात यह है कि इसका असर दूसरी लहर से थोड़ा कम होगा। जी दरअसल आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिक प्रो। मणींद्र अग्रवाल ने कहा कि साउथ अफ्रीका का पूरा डाटा मिल गया है, उसी के आधार पर उन्होंने यह निष्कर्ष निकाला है। उनका कहना है नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे पर वह शोध कर रहे हैं और इसी के आधार पर उन्होंने दावा किया है कि कोरोना की तीसरी लहर साउथ अफ्रीका में 18 से 23 दिसंबर तक पीक पर आ सकती है। हाल ही में प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने कहा कि भारत को लेकर वह जल्द ही ब्यौरा जारी करेंगे। उनका कहना है यह भारत में बढ़ेगा।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि 'लेकिन इसका झटका दूसरी लहर से कम होगा। इसमें किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। जनवरी के दूसरे या तीसरे हफ्ते में तीसरी लहर आ सकती है। तीसरी लहर में संक्रमण तेजी के साथ फैलेगा। लेकिन, घबराने की जरूरत नहीं है, यह सिर्फ खासी और जुकाम की तरह ही रहेगा, क्योंकि पहले से ही भारतीयों की इम्युनिटी काफी मजबूत है।'

OMICRON: अजित पवार बोले- 'केवल मुंबई में नहीं आती अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट'

फिलीपीन सरकार ने 13 दिसंबर से फ्रांस से यात्रा पर रोक लगाई

ओमिक्रोन खतरा: आज राज्यों के साथ बैठक की अध्यक्षता करेंगे मंडाविया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -