'जरूरत पड़ी तो LoC पार करेंगे..', कारगिल विजय दिवस पर राजनाथ सिंह ने भरी हुंकार, शहीदों के परिजनों से की मुलाकात

'जरूरत पड़ी तो LoC पार करेंगे..', कारगिल विजय दिवस पर राजनाथ सिंह ने भरी हुंकार, शहीदों के परिजनों से की मुलाकात
Share:

नई दिल्ली: पूरा देश आज 24वां करगिल विजय दिवस मना रहा है और अमर शहीदों को नमन कर रहा है. इसी क्रम में पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर समेत कई नेताओं ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की है. वहीं लद्दाख के द्रास में चार MIG 29 विमानों ने द्रास में कारगिल युद्ध स्मारक से उड़ान भरी. इस अवसर पर केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 26 जुलाई 1999 को युद्ध जीतने के बाद भी हमारी सेनाओं ने यदि LoC पार नहीं किया, तो वह इसलिए क्योंकि हम शांतिप्रिय हैं. भारतीय मूल्यों के प्रति हमारा विश्वास है और अंतरराष्ट्रीय कानूनों के प्रति हमारा कमिटमेंट है. उस वक़्त यदि हमने LoC पार नहीं किया, तो इसका यह अर्थ नहीं है कि हम LoC पार नहीं कर सकते थे. हम पार कर सकते थे और आज भी हम LoC पार कर सकते हैं और जरूरत पड़ी तो भविष्य में LoC पार करेंगे. मैं अपनी बात को दोहराता हूं और इसका मैं देशवासियों को भरोसा दिलाता हूं.

 

बता दें कि, आज देशभर से 1999 के कारगिल युद्ध में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की जा रही है. 1999 को आज ही के दिन हमारे जाबांज जवानों ने पाकिस्तानी फौज को कारगिल से खदेड़कर तिरंगा लहराया था. हालांकि, यह जीत इतनी आसान नहीं थी. 527 जवानों के बलिदान के बाद हमें यह विजय मिली थी. पूरा भारत और यहां रहने वाला हर शख्स उनका बलिदान हमेशा याद रखेगा. इस अवसर पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कारगिल विजय दिवस भारत के उन अद्भुत पराक्रमियों की शौर्यगाथा को सामने लाता है, जो देशवासियों के लिए सदैव प्रेरणाशक्ति बने रहेंगे. इस विशेष दिवस पर मैं उनका हृदय से नमन और वंदन करता हूं. जय हिंद। 

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि, 'मैं उन वीर सपूतों को सलाम करता हूं, जिन्होंने मातृभूमि की रक्षा के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर कर दिया. मैं उन वीर सपूतों को सलाम करता हूं, जिन्होंने देश को सबसे पहले रखा और इसके लिए अपने जीवन का बलिदान देने में संकोच नहीं किया.' वहीं, केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने द्रास पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने 1999 के करगिल युद्ध में शहीद जवानों के परिवार के सदस्यों के साथ मुलाकात की और उन्होंने सम्मान स्वरूप उन्हें एक स्मृति चिन्ह और एक शॉल भी सौंपा. 

 

इससे पहले रक्षा मंत्री ने ट्विटर पर एक वीडियो जारी करते हुए लिखा- ''कारगिल विजय दिवस पर देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा देने वाले सभी योद्धाओं को नमन!'' राजनाथ सिंह ने इस वीडियो में कहा कि करगिल दिवस महज एक दिन नहीं है बल्कि इस देश के सैनिकों के पराक्रम और शौर्य यह उत्सव है. हमारे देश में अनेक पर्व ऐसे आते हैं, जो इस देश के वीर सपूतों को शौर्य और पराक्रम की याद दिलाते हैं. वैसे तो हमारे देश इन वीरों के प्रति कृतज्ञता को कभी नहीं भूल सकता, फिर भी ये दिवस उन वीरों के सम्मान में हर बार नई ज्योति जला जाते हैं. करगिल वजय दिवस भी उन्हीं महान पर्वों में शामिल है. 

सोशल मीडिया पर वायरल वायरल हुआ अंजू का हलफनामा, लिखी है ये बातें

नदी किनारे जाकर दूध में पानी मिला रहा था दूधिया, कलेक्टर ने वायरल कर दी तस्वीरें

'सपा ने मुगल संग्रहालय बनवाया था और हम शिवाजी म्यूजियम बनवा रहे है', CM योगी का बड़ा बयान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -